रिपोर्ट का दावा: राजीव गांधी की ‘छुट्टियों’ के लिए हुआ था भारी-भरकम इंतजाम, विमान से पहुंचाया गया ‘खास’ सामान

रिपोर्ट का दावा: राजीव गांधी की ‘छुट्टियों’ के लिए हुआ था भारी-भरकम इंतजाम, विमान से पहुंचाया गया ‘खास’ सामान

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण करीब आने के साथ ही कांग्रेस और भाजपा नेताओं में जुबानी जंग तेज होती जा रही है। आरोप-प्रत्यारोप के दौर में पूर्व प्रधानमंत्री और उनके शासन काल में हुईं घटनाओं को लेकर भी एक-दूसरे पर खूब निशाना साधा जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा आईएनएस विराट को ‘प्राइवेट टैक्सी’ की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगाया तो उसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका वाड्रा ने मोदी पर तीखा हमला बोला। इस बीच एक अंग्रेजी अखबार ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की ‘छुट्टियों’ को लेकर उस समय प्रकाशित खबरों के आधार पर कई दावे किए हैं।

उक्त अंग्रेजी अखबार में 16 दिसंबर, 1987 को प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि बैरन द्वीप में राजीव गांधी की छुट्टियों की मेजबानी हुई थी। इसी खबर में दावा किया गया था कि राजीव गांधी ने पिछले साल के आखिर में अपने इटली के रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ अंडमान में छुट्टियां बिताई थीं।

भारी इंतजाम
इसके बाद कहा गया कि (तत्कालीन) प्रधानमंत्री से जुड़े इस कार्यक्रम की तैयारी में सुरक्षाकर्मियों, कांट्रैक्टर और कांग्रेस नेताओं को लगा दिया गया। खबर में कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा गया है कि वे लोग क्रिसमस के बाद का एक सप्ताह इस द्वीप पर बिताएंगे। इसके लिए हैलीपैड और आधुनिक सुविधाओं से युक्त अस्थायी ठिकाना तैयार करना था। इस काम में इंजीनियर और मजदूर जुटे हुए थे।

खबर के आधार पर दावा किया गया है कि (तत्कालीन) प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए जरूरी साजो-सामान करीब 200 से 400 किमी दूर से लाया गया। बताया गया है कि छुट्टियां मनाने के लिए जो सामान जरूरी था, उनमें से नारियल पानी और मछली के अलावा बाकी सामान हवाई जहाज के जरिए लाया जाएगा।

बंगारम के चयन की खास वजह!
इसके अलावा जनरेटर, रसोइया, हर समय उपस्थित रहने वाले सुरक्षाकर्मी और सहायक भी उपलब्ध कराए गए। इसी अखबार में 30 दिसंबर, 1987 को प्रकाशित एक खबर में कहा गया है कि (तत्कालीन) प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने छुट्टियां मनाने के लिए बंगारम द्वीप का चयन किया है। कहा गया है कि यह एकमात्र ऐसा द्वीप है जहां शराब पीने की इजाजत है।

खबर में आगे कहा गया है कि यहां अन्य मुस्लिम बहुल द्वीपों पर शराब पीने की मनाही है। हालांकि जहाज ही वह जगह होती है जहां पर्यटक या अन्य लोग शराब का सेवन कर सकते हैं। खबर में कहा गया है कि (तत्कालीन) प्रधानमंत्री जहाज पर पार्टी मनाने की योजना बना रहे हैं।

हवाई मार्ग से लाया गया सामान
अखबार ने सूत्रों के हवाले से प्रकाशित रिपोर्ट में दावा किया है कि कार्यक्रम में वीआईपी जरूरतों के मद्देनजर बंगारम द्वीप पर पहले ही से चुनिंदा ब्रांड की शराब का इंतजाम कर दिया गया। इसके अलावा कोचीन से विमान के जरिए ताजा सब्जियां और मांसाहार लाया गया।

बता दें कि वर्षों पुरानी इस घटना को लेकर भाजपा और ​कांग्रेस की ओर से कई दावे किए जा रहे हैं, जो इन दिनों खूब सुर्खियों में हैं।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेट्रो सेवा को नहीं हो रहा कोई नुकसान...', शिवकुमार ने क्यों​ किया 'शक्ति योजना' का जिक्र? 'मेट्रो सेवा को नहीं हो रहा कोई नुकसान...', शिवकुमार ने क्यों​ किया 'शक्ति योजना' का जिक्र?
Photo: DKShivakumar.official FB page
इंडि गठबंधन वाले हैं घोटालेबाजों की जमात, इन्हें किसी भी कीमत पर सत्ता चाहिए: मोदी
देवराजे गौड़ा के आरोपों पर बोले शिवकुमार- केवल पेन-ड्राइव के बारे में चर्चा कर रहे हैं ...
वीडियो ने साबित कर दिया कि स्वाति मालीवाल के सभी आरोप झूठे थे: आप
इंडि गठबंधन ने बुलडोजर संबंधी टिप्पणी के लिए मोदी की आलोचना की, कहा- धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा करेंगे
मोदी के तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने पर भारत तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा: नड्डा
मालीवाल मामले में दिल्ली पुलिस ने विभव कुमार को गिरफ्तार किया