कांग्रेस-तृणकां एक ही सिक्के के दो पहलू, बंगाल में एक-दूसरे को गाली, दिल्ली में दोस्ती: मोदी

प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित किया

कांग्रेस-तृणकां एक ही सिक्के के दो पहलू, बंगाल में एक-दूसरे को गाली, दिल्ली में दोस्ती: मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि तृणकां लोकतंत्र की लड़ाई हार गई है

मेदिनीपुर/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि मेदिनीपुर का यह माहौल साफ बता रहा है कि पूरा बंगाल विकसित भारत के लिए संकल्प ले चुका है। पूरा बंगाल यह ठान चुका है कि इस बार भी केंद्र में एक मजबूत सरकार बनानी है, इसलिए देश के हर कोने से एक ही आवाज सुनाई दे रही है- फिर एक बार मोदी सरकार।

प्रधानमंत्री ने कहा कि तृणकां लोकतंत्र की लड़ाई हार गई है और इसलिए वह गुंडों की मदद से जीतना चाहती है। लेकिन बंगाल के युवाओ! किसी से डरना नहीं। मेदिनीपुर की धरती वीरों और क्रांतिकारियों की धरती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बंगाल में तृणकां आतंकवाद, भ्रष्टाचार, तुष्टीकरण और भाई-भतीजावाद का पर्याय है। अपने वोट बैंक को खुश करने के लिए तृणकां हिंदू समाज और आस्था का अपमान कर रही है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के हालिया अपमानजनक बयान से पश्चिम बंगाल ही नहीं, बल्कि पूरे देश की जनता गुस्से में है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि तृणकां के तुष्टीकरण ने बंगाल में जनसांख्यिकी को बिगाड़ दिया है। तृणकां दूसरे राज्यों से आए लोगों को 'बाहरी' कहती है। हालांकि, यह अवैध घुसपैठियों को गले लगाती है। घुसपैठिए बंगाल के लिए खतरनाक हैं, क्योंकि वे राज्य की जनसांख्यिकी को बिगाड़ रहे हैं। कई हिस्सों में हिंदू अल्पसंख्यक हो गए हैं। दलितों और वंचितों की जमीनों पर घुसपैठिए कब्जा कर रहे हैं। हमारी बहन-बेटियां अब सुरक्षित नहीं हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जो अल्पसंख्यक हिंदू भाई-बहन प्रताड़ित होकर यहां आए हैं, उनका तृणकां घोर विरोध करती है, लेकिन मैंने वादा किया था कि इन शरणार्थी परिवारों को नागरिकता दूंगा। ये हमारे भाई-बहन हैं। तृणकां इनकी मदद का विरोध कर रही है, सीएए का विरोध कर रही है। तृणकां वाले, कांग्रेस वाले, लेफ्ट वाले... आप सभी लिखकर रख लेना ... आप कुछ भी नहीं कर पाएंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी चार दिन पहले 300 से ज्यादा शरणार्थियों को नागरिकता देकर शुभ शुरुआत हो चुकी है। मैं तृणकां वालों से कहना चाहता हूं कि कान खोलकर सुन लें, सीएए मोदी की गारंटी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि तृणकां की साजिशों को रोकने के लिए केंद्र में एक मजबूत और स्थिर भाजपा सरकार जरूरी है। जब तक मोदी केंद्र में हैं, मैं उन्हें उनके गलत इरादों में कामयाब नहीं होने दूंगा। यह मोदी की गारंटी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस और तृणकां एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। ये लोग एक-दूसरे को बंगाल में तो गाली देते हैं, फिर दिल्ली जाकर दोस्ती निभाने लगते हैं। तृणकां भले ही अलग चुनाव लड़ने का नाटक कर रही है, लेकिन यह दिल्ली में इंडि गठबंधन की पार्टनर है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News