इन वैज्ञानिक तकनीकों के साथ बनाया गया है अबू धाबी में पहला हिंदू मंदिर

मंदिर के निर्माण में किसी भी धातु का उपयोग नहीं किया गया है

इन वैज्ञानिक तकनीकों के साथ बनाया गया है अबू धाबी में पहला हिंदू मंदिर

Photo: @abudhabimandir Instagram account

अबू धाबी/दक्षिण भारत। अबू धाबी में पहला हिंदू पत्थर, जिसका उद्घाटन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे, को वैज्ञानिक तकनीकों के साथ प्राचीन वास्तुकला विधियों का उपयोग करके बनाया गया है।

बीएपीएस हिंदू मंदिर को तापमान मापने और भूकंपीय गतिविधि की निगरानी के लिए 300 से अधिक उच्च तकनीक सेंसर के साथ बनाया गया है।

मंदिर के निर्माण में किसी भी धातु का उपयोग नहीं किया गया है और नींव को भरने के लिए फ्लाई ऐश का उपयोग किया गया है।

भव्य मंदिर का निर्माण बीएपीएस स्वामीनारायण संस्था द्वारा लगभग 700 करोड़ रुपए की लागत से दुबई-अबू धाबी शेख जायद राजमार्ग पर अल रहबा के पास अबू मरेखह में 27 एकड़ की जगह पर किया गया है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ज़िंदगी से खिलवाड़ ज़िंदगी से खिलवाड़
भारत में हर साल बड़ी तादाद में हादसे होते हैं, जिनमें बहुत लोग जान गंवाते हैं
'इंडि' गठबंधन के पक्ष में जन समर्थन की एक अदृश्य लहर है: खरगे का दावा
आज का भारत मोदी के नेतृत्व में न तो किसी के पास गिड़गिड़ाता है, न ही पिछलग्गू है: नड्डा
अदालत ने कविता को 15 अप्रैल तक सीबीआई हिरासत में भेजा
मोदी का आरोप- कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, ये सीमावर्ती गांवों को 'आखिरी गांव' कहते हैं
नरम पड़े मालदीव के तेवर, भारत से आयात के लिए स्थानीय मुद्रा में भुगतान को लेकर कर रहा बात
ठगों से सावधान: आरबीआई में नौकरी के नाम लगा दिया 2 करोड़ रु. से ज्यादा का चूना