बेंगलूरु: मुख्यमंत्री के 'जनता दर्शन' कार्यक्रम में उमड़े लोग, दर्ज कराईं शिकायतें

जनता को व्यक्तिगत रूप से / घर बैठे शिकायत दर्ज करने की अनुमति है

बेंगलूरु: मुख्यमंत्री के 'जनता दर्शन' कार्यक्रम में उमड़े लोग, दर्ज कराईं शिकायतें

इस आयोजन में राज्य के सभी विभागों के सचिव एवं प्रमुख मौके पर मौजूद रहते हैं

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। मुख्यमंत्री सिद्दरामैया का पहला 'जनता दर्शन' कार्यक्रम कृष्णा स्थित मुख्यमंत्री गृह कार्यालय में आयोजित किया गया। इस दौरान जनता ने मुख्यमंत्री के समक्ष अपनी शिकायतें प्रस्तुत कीं।

इस आयोजन में बड़ी संख्या में लोग आए और उन्होंने अपनी शिकायतें दीं। इनमें जमीन, प्लॉट, मकान, संपत्ति, स्वास्थ्य समेत विभिन्न विषयों को लेकर प्रार्थनापत्र पेश किए गए।

बता दें कि इस आयोजन में राज्य के सभी विभागों के सचिव एवं प्रमुख मौके पर मौजूद रहते हैं और शिकायतों पर कार्रवाई की जाती है। जनता को व्यक्तिगत रूप से / घर बैठे शिकायत दर्ज करने की अनुमति है।

लोग घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज करा सकें, इसके लिए एक अलग क्यूआर कोड बनाया गया है। इसे स्कैन कर शिकायत प्रस्तुत की जा सकती है। 

जनता से व्यक्तिगत / ऑनलाइन प्राप्त शिकायतों / परिवादों को एकीकृत लोक शिकायत निवारण प्रणाली में पंजीकृत किया जाता है तथा पावती जारी करने की व्यवस्था की जाती है।

जनता एकीकृत लोक शिकायत निवारण प्रणाली में पावती संख्या का उपयोग करके या 1902 नंबर पर कॉल करके अपनी शिकायत की स्थिति की जांच कर सकती है।

प्राप्त शिकायतों को विषय के आधार पर तुरंत संबंधित विभागों / सहायक संस्थानों के अधिकारियों के लॉग इन पर भेज दिया जाता है। मुख्यमंत्री के 'जनता दर्शन' में प्राप्त शिकायतों को संबंधित विभागीय सचिवों के ई-ऑफिस लॉग इन पर स्वचालित रूप से भेजने की व्यवस्था लागू की गई है।

ई-ऑफिस में उक्त फाइल के संचालन के प्रत्येक चरण की जानकारी एकीकृत लोक शिकायत निवारण प्रणाली को एपीआई के माध्यम से उपलब्ध कराई जाती है।

प्राप्त रिपोर्टों की प्रगति की जांच के लिए एक अलग डैशबोर्ड विकसित किया गया है। इस डैशबोर्ड में विभाग / जिलावार प्राप्त शिकायतों और रिपोर्टों की संख्या, निस्तारित और लंबित शिकायतों और रिपोर्टों का विवरण उपलब्ध है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा