आते ही छा गया ‘केसरी’ का ट्रेलर, रोंगटे खड़े कर देंगे अक्षय के दमदार डायलॉग

आते ही छा गया ‘केसरी’ का ट्रेलर, रोंगटे खड़े कर देंगे अक्षय के दमदार डायलॉग

मुंबई/दक्षिण भारत। अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म ‘केसरी’ का ट्रेलर रिलीज हो गया। अपने दमदार संवादों और शानदार फिल्मांकन की बदौलत यह यूट्यूब पर आते ही छा गया। विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यह खूब शेयर किया जा रहा है। फिल्म में परिणीति चोपड़ा ने भी अभिनय किया है। निर्देशन अनुराग सिंह ने किया है। यूट्यूब पर ‘केसरी’ का ट्रेलर पोस्ट करते ही छह घंटे में इसे 42 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है। इसके व्यूज की तादाद तेजी से बढ़ती जा रही है। यह फिल्म 21 मार्च को रिलीज होगी। ट्रेलर को देखकर कहा जा सकता है कि यह होली के मौके पर देशभक्ति के रंग खूब भरेगी।

ट्रेलर में अक्षय कुमार बहादुर सिख योद्धा हवलदार ईशर सिंह के किरदार में हैं। एक ओर जहां वे अफगान आक्रमणकारियों को ललकारते और उन पर प्रहार करते नजर आते हैं, वहीं हर धर्म का आदर करने का भी संदेश देते हैं। एक जवान जब ईशर सिंह से कहता है कि कोई फौजियों वाला काम है तो बताओ सरजी। हम यहां पठानों से लड़ने आए हैं, उनकी मस्जिदें बनाने नहीं। इस पर ईशर सिंह कहते हैं कि जब लड़ने का वक्त आएगा तब लड़ेंगे। अभी तो रब का घर बनाने का वक्त है। रब से कैसी लड़ाई!

एक अन्य दृश्य में अक्षय बहादुर योद्धा की तरह तलवार थामे नजर आते हैं। सिर पर केसरिया पगड़ी और सुर्ख तलवार लेकर वे दुश्मन का काफी बहादुरी से मुकाबला करते हैं। नगाड़ों की धमक और जोशीले नारों की गूंज सुनकर दर्शकों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। आक्रमणकारियों से जंग के दौरान ईशर सिंह कहते हैं, आज मेरी पगड़ी भी केसरी, जो बहेगा मेरा लहू भी केसरी और मेरा जवाब भी केसरी।

गौरतलब है कि ‘केसरी’ फिल्म 21 सिख सैनिकों के जीवन पर आधारित है। ये भारतीय सेना की सिख रेजिमेंट की ओर से पोस्ट की निगरानी के लिए भेजे जाते हैं। 12 सितंबर, 1897 को इन सैनिकों और करीब 10,000 अफगान आक्रमणकारियों के बीच सारागढ़ी का युद्ध होता है। इसमें ये योद्धा बहुत दिलेरी से लड़ते हुए शहीद हो जाते हैं। यह स्थान आज पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वाह में स्थित है। भारतीय सेना इन वीरों की बहादुरी को हर साल याद कर नमन करती है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement