यौन उत्पीड़न पर बेबाकी से बोली राधिका आप्टे

यौन उत्पीड़न पर बेबाकी से बोली राधिका आप्टे

मुंबई। बॉलीवुड में यौन उत्पी़डन के आरोपों पर राधिका आप्टे ने खुलकर विचार रखे। राधिका आप्टे का मानना है कि यौन उत्पी़डन सिर्फ ग्लैमर व शोबिज की दुनिया में ही नहीं बल्कि हर दूसरे घर में होता है। राधिका ने बताया, यौन उत्पी़डन हर दूसरे घर में होता है, इसलिए यह सिर्फ फिल्म उद्योग का हिस्सा नहीं है। भारत सहित दुनिया में हर जगह बाल दुर्व्यवहार, घरेलू हिंसा होती है। उन्होंने कहा कि यह हर क्षेत्र या घर में कुछ स्तर पर या अन्य स्तर पर होता है, जिसे समाप्त करने की जरूरत है। यौन उत्पी़डन का शिकार सिर्फ महिलाएं ही नहीं बल्कि पुरुष, छोटे बच्चे और हर कोई होता है। लोग अपने र्पभाव का इस्तेमाल हर स्तर पर करते हैं। राधिका ने कहा कि इसे बदलने की जरूरत है। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि इसकी शुरुआत नहीं कहने से होती है, चाहे आपकी महत्वाकांक्षा कितनी भी ब़डी क्यों न हो। आपको इस बारे में बहादुर बनने और खुद की र्पतिभा पर भरोसा करने की जरूरत है। नहीं कहें और बोलना शुरू करें क्योंकि अगर कोई एक शख्स बोलता या बोलती है तो उनकी कोई नहीं सुनने वाला, लेकिन अगर १० लोग बोलते हैं, तो और लोग उनकी बातें सुनेंगे। फिल्म फोबिया की अभिनेत्री एमटीवी के आगामी डिजिटल शो फेम-इस्तान में मेंटर के रूप में नजर आएंगी, उन्होंने कहा कि लोगों के काम करने के लिए और ज्यादा नियोजित पेशेवर मंच होने चाहिए। हॉलीवुड के मशहूर निर्माता हार्वे वाइंस्टीन के ऊपर यौन उत्पी़डन के कई आरोप लगने के बाद यौन उत्पी़डन को लेकर बहस छि़ड गई है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List