न्यायालय ने विद्यालय शिक्षा सचिव को जारी किया नोटिस

न्यायालय ने विद्यालय शिक्षा सचिव को जारी किया नोटिस

चेन्नई/दक्षिण भारत बोर्ड परीक्षाओं में असफल रहने वाले छात्रों के आत्महत्या करने के मामलों का हवाला देते हुए मद्रास उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दायर कर बोर्ड के नतीजों को वेबसाइट और अखबारों में प्रकाशित करने के बजाय सीधे अभिभावकों को सौंपने का अनुरोध किया गया है। अदालत ने इस याचिका पर बुधवार को तमिलनाडु विद्यालय शिक्षा सचिव एवं निदेशक को नोटिस जारी किया। यह याचिका सेंथिल कुमार नाम के एक व्यक्ति ने दायर की है। न्यायाधीश वी पार्थिबन और न्यायाधीश पी डी औदिकेशवालु की पीठ ने इस याचिका पर नोटिस विद्यालय शिक्षा सचिव को नोटिस जारी किया। प्रतिवादियों को चार सप्ताह के भीतर नोटिस का जवाब देने का निर्देश दिया गया है। इस मामले में अब अगली सुनवाई चार सप्ताह बाद होगी। सेंथिल कुमार ने अपनी याचिका में अनुरोध किया है कि १० वीं , ११ वीं और १२ वीं कक्षा के छात्रों के लिये आयोजित परीक्षाओं के नतीजे अखबारों एवं वेबसाइट पर प्रकाशित किए जाते हैं और इन्हें देखने के बाद परीक्षा में असफल छात्र आत्महत्या की कोशिश करते हैं , इनमें से कुछ की मौत भी हो जाती है।उन्होंने परीक्षाओं के नतीजे स्कूल परिसर में अभिभावक – शिक्षक मुलाकात के दौरान उनके अभिभावकों को सौंपने का विकल्प भी सुझाया है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

आईएसआई के मोहरे आईएसआई के मोहरे
पड़ोसी देश पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई भारत-विरोधी कृत्यों को अंजाम देने के लिए इंटरनेट का खूब इस्तेमाल कर रही...
बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला
केरल में इतनी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी कांग्रेस!
हिप्र: 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' से शिमला लौटे, 15 भाजपा विधायक निलंबित
पाक समर्थक नारे का आरोप: सिद्दरामैया ने कहा- सच पाए जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई
राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' पर गए!
प्रधानमंत्री ने नई परियोजनाओं का उद्घाटन किया, तमिलनाडु में नए इसरो लॉन्च कॉम्प्लेक्स की आधारशिला रखी