शैक्षणिक समूह के 50 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी

शैक्षणिक समूह के 50 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी

चेन्नई। गुरुवार को राज्य के एक प्रतिष्ठित शैक्षणिक समूह की ५० संपत्तियों पर आयकर विभाग के अधिकारियों ने एक साथ छापेमारी की। धनलक्ष्मी श्रीनिवासन ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स के विभिन्न परिसरों पर यह छापेमारी गुरुवार अल सुबह शुरु हुई। मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार इस छापेमारी के दौरान कुछ जमीनों के दस्तावेज एवं अन्य संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए गए हैं। इस समूह का मुख्यालय राज्य के पेरम्बलूर जिले में है। इस समूह द्वारा मुख्य रुप से स्कूल और कॉलेजों का संचालन किया जाता है। इसके साथ ही इसके द्वारा एक चिट फंड कंपनी भी संचालित की जाती है। समूह के शैक्षणिक संस्थान चेन्नई के साथ ही तिरुचि और कोयंबटूर में स्थित हैं। आयकर विभाग के १२० सदस्यों की एक टीम ने इन सभी शैक्षणिक संस्थानों की परिसर में छापेमारी की। चेन्नई में स्थित परिसरों में आयकर विभाग की छापेमारी देर शाम तक जारी रही। शहर के टीनगर, पूर्वी ताम्बरम और महाबलीपुरम में स्थित इसके शैक्षणिक संस्थान परिसरों में आयकर विभाग के अधिकारी छापे की कार्रवाई में जुटे रहे। समूह द्वारा श्रीवाचूर में संचालित एक मेडिकल कॉलेज और इसके अधीन संचालित होने वाली चिट फंड कंपनी के चेन्नई स्थित एक कार्यालय में भी आयकर विभाग के अधिकारियों ने दबिश दी।शैक्षणिक समूह के संस्थापक श्रीनिवासन और इसके उपाध्यक्ष कातिवारन के क्रमश: तिरुचि और चेन्नई स्थित आवासों पर भी आयकर विभाग के अधिकारियों ने छापा मारा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आयकर विभाग के अधिकारियों को इस शैक्षणिक समूह द्वारा टैक्स की चोरी करने की शिकायत मिली थी। चूंकि इस समूह की संपत्तियां राज्य के विभिन्न शहरों में स्थित हैं और सभी परिसरों में एक साथ छापा मारने का निर्णय लिया गया था इसलिए बुधवार की रात दो बजे से ही आयकर विभाग के अधिकारी इस छापेमारी की तैयारियों में जुट गए थे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राज्य के जिन स्थानों पर इस समूह की संपत्तियां वहां के अधिकारियों को अल सुबह चार बजे से छापेमारी के लिए निर्देश जारी करना शुरु कर दिया गया। महाबलीपुरम स्थित धनलक्ष्मी इंजीनियरिंग कॉलेज परिसर में आयकर विभाग के अधिकारियों ने सुबह लगभग सात बजे दबिश दी। विभाग के अधिकारियों ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि उन्हें एक शिकायत प्राप्त हुई थी जिसमें इस शैक्षणिक समूह और इसके स्वामियों द्वारा संचालित होने वाले अन्य व्यापारिक संस्थानों द्वारा भारी संख्या में टैक्स चोरी करने की बात कही गई थी। जब विभाग ने इस संबंध में शुरुआती जांच शुरु की तो कुछ अनियमितता सामने आई और तुंरत विभाग ने इस समूह के विभिन्न संपत्तियों पर छापेमारी करने के लिए आवश्यक औपचारिकताएं पूरी की और कार्रवाई शुरु कर दी। अधिकारियों ने पत्रकारों को बताया कि विभाग द्वारा मौजूदा समय में सिर्फ धनलक्ष्मी श्रीनिवासन समूह द्वारा संचालित शैक्षणिक समूहों पर ध्यान के्द्रिरत किया जा रहा है और इसके द्वारा संचालित की जाने वाली चिट फंड कंपनी की केवल एक शाखा पर छापेमारी की गई है लेकिन अन्य शाखाओं पर भी छापा मारने की योजना है। तमिलनाडु के साथ ही इस शैक्षणिक समूह की कुछ शाखाएं प़डोसी राज्य आंध्रप्रदेश में भी है। समूह ने कहा है कि उनका सभी व्यापार पूरी तरह से मान्यता प्राप्त है और यह छापेमारी एक नियमित प्रक्रिया के तहत किसी अनजान व्यक्ति द्वारा की गई शिकायत के आधार पर की जा रही है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News