प्रदेश में फिर से बढी राजनीतिक सरगर्मियां

प्रदेश में फिर से बढी राजनीतिक सरगर्मियां

चेन्नई। राज्य में एक बार फिर से राजनीतिक सरगर्मियां बढ गई हैं। दिनाकरण का समर्थन करने वाले १९ विधायकों को पुुदुच्चेरी स्थित विंडफ्लावर रिसोर्ट में ठहराया गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि दिनाकरण इन १९ विधायकों और तीन निर्दलीय विधायकों तथा १० अन्य विधायकों की मदद से राज्य सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने और पलानीसामी सरकार को गिराने की तैयारियों में जुटे हुए हैं। सूत्रों के अनुसार मौजूदा समय में पुदुच्चेरी के रिसोर्ट में २५ विधायक ठहरे हुए हैं। इन विधायकों को रिसोर्ट से कहीं बाहर जाने की अनुमति नहीं है।बुधवार को दिनाकरण का समर्थन करने वाले तंगा तमिलसेल्वन ने पत्रकारों को बताया कि रिसोर्ट में उनको मिलाकर २५ विधायक अपनी इच्छा से आराम कर रहे हैं और उन्हें जबरदस्ती वहां नहीं रखा गया है। उन्होंने कहा कि पिछली बार हमने कूवातूर के एक रिसोर्ट मंे अपनी छुट्टियां बिताई थी और अब उसके छह महीने पूरे हो गए हैं। हम भी इंसान हैं और इस प्रकार बाहर आराम करने और छुट्टियां बिताने में कुछ भी गलत नहीं है।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीसामी को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। हालांकि बुधवार को चेन्नई हवाईअड्डे पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता और लोकसभा के उपाध्यक्ष एम थंबीदुरै ने कहा कि पार्टी में कोई टूट नहीं है और सरकार पलानीसामी के नेतृत्व में काफी मजबूत है। उन्होंने कहा कि हमारे पास बहुमत है और यह सरकार बिना किसी बाधा के अपना कार्य करती रहेगी। इसी क्रम में मुख्यमंत्री पलानीसामी और उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम बुधवार को तिरुची में होने वाले जन्म शताब्दी कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए रवाना हो गए।ब्स्द्रवि़ड मुनेत्र कषगम(द्रमुक) द्वारा राज्यपाल से मुख्यमंत्री पलानीसामी सरकार को विश्वासमत साबित करने के लिए कहने का अनुरोध करने के एक दिन बाद बुधवार को प्रदेश कांग्रेस ने भी राज्यपाल को पत्र लिखकर कर अनुरोध किया है कि वह पलानीसामी को राज्य विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने के लिए कहंे। कांग्रेस के विधायक दल के नेता के रामास्वामी ने बुधवार को इस संबंध में पत्रकारों से कहा कि राज्यपाल को पलानीसामी को जल्द से जल्द विधानसभा के पटल पर विश्वासमत साबित करने के लिए कहना चाहिए ताकि असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक ढंग से बनाई गई सरकार को गिराने का मार्ग प्रशस्त हो सके। बुधवार को पन्नीरसेल्वम के समर्थकों ने पुदुच्चेरी के उस रिसोर्ट का घेराव किया जिसमें १९ विधायक रह रहे हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?