मनमोहन सिंह को कुछ समय के लिए रहना पड़ सकता है राज्यसभा से बाहर, ये है वजह

मनमोहन सिंह को कुछ समय के लिए रहना पड़ सकता है राज्यसभा से बाहर, ये है वजह

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह

नई दिल्ली/भाषा। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को कुछ समय के लिए राज्यसभा से बाहर रहना पड़ सकता है क्योंकि उच्च सदन की उनकी सदस्यता जून में समाप्त हो रही है। सिंह पांच बार से उच्च सदन के सदस्य हैं और उनका मौजूदा छह साल का कार्यकाल 14 जून को पूरा हो रहा है।

चुनाव आयोग ने असम से राज्यसभा की दो सीटों को भरने के लिए सात जून को चुनाव की घोषणा की है। एक सीट का प्रतिनिधित्व सिंह कर रहे हैं जबकि दूसरी सीट का प्रतिनिधित्व एस कुजूर कर रहे हैं। कुजूर भी कांग्रेस के ही सदस्य हैं।

असम में भाजपा सत्ता में है और कांग्रेस के पास इतनी संख्या नहीं है कि वह फिर से सिंह को राज्यसभा में भेज सके।

ऐसी अटकलें हैं कि भाजपा खाली होने वाली सीटों में से एक सीट की पेशकश केंद्रीय मंत्री और लोजपा नेता रामविलास पासवान को कर सकती है। पासवान इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं।

सूत्रों का कहना है कि अगर पार्टी मनमोहन सिंह को एक और कार्यकाल देने का फैसला करती है तो उन्हें राज्यसभा के कुछ सदस्यों के आम चुनावों में जीतने के बाद रिक्त होने वाली सीटों में से किसी एक से लाना होगा।

जुलाई में राज्यसभा की छह सीटें तमिलनाडु से खाली हो रही हैं। यदि पार्टी चाहती है तो द्रमुक वहां से सिंह को एक सीट की पेशकश कर सकती है। नहीं तो उन्हें अप्रैल 2020 तक इंतजार करना पड़ सकता है जब विभिन्न राज्यों में 55 सीटें खाली होंगी और उनमें से कुछ सीटें कांग्रेस को मिलेगी।

दोनों रिक्तियों को भरने के लिए आयोग ने सात जून को चुनाव की घोषणा की है। इसके लिए 21 मई को अधिसूचना जारी की जाएगी। मतगणना उसी दिन होगी।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

आज सब्जी बेचने वाला भी डिजिटल पेमेंट लेता है, यह बदलता भारत है: नड्डा आज सब्जी बेचने वाला भी डिजिटल पेमेंट लेता है, यह बदलता भारत है: नड्डा
नड्डा ने कहा कि लालू यादव, तेजस्वी और राहुल गांधी कहते थे कि भारत तो अनपढ़ देश है, गांव में...
राजकोट: गेमिंग जोन में आग मामले में अब तक पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
पीओके भारत का है, उसे लेकर रहेंगे: शाह
जैन मिशन अस्पताल द्वारा महिलाओं के लिए निःशुल्क सर्वाइकल कैंसर और स्तन जांच शिविर 17 जून तक
राजकोट: गुजरात उच्च न्यायालय ने अग्निकांड का स्वत: संज्ञान लिया, इसे मानव निर्मित आपदा बताया
इंडि गठबंधन वालों को देश 'अच्छी तरह' जान गया है: मोदी
चक्रवात 'रेमल' के बारे में आई यह बड़ी खबर, यहां रहेगा ज़बर्दस्त असर