सेना का शौर्य: बर्फीले तूफान में फंसे 80 से ज्यादा विद्यार्थियों, कर्मचारियों की जान बचाई

भारी बर्फबारी और भूस्खलन के कारण सड़कें अवरुद्ध होने से कई यात्री जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर फंस गए थे

सेना का शौर्य: बर्फीले तूफान में फंसे 80 से ज्यादा विद्यार्थियों, कर्मचारियों की जान बचाई

Photo: @Indianarmy.adgpi FB page

बनिहाल/जम्मू/दक्षिण भारत। जम्मू में भारी बर्फीले तूफान और भूस्खलन के बाद, सेना के जवानों ने 80 से अधिक विद्यार्थियों और संकाय कर्मचारियों को बचाया, जो जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर फंसे हुए थे। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने कहा कि बुधवार को भारी बर्फबारी और भूस्खलन के कारण सड़कें अवरुद्ध होने से कई यात्री जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर फंस गए, जिनमें एक लॉ कॉलेज के 74 विद्यार्थी और उसके सात स्टाफ सदस्य भी शामिल थे।

सेना के जवानों ने तेजी से कार्रवाई की और राजस्थान लॉ कॉलेज के कर्मचारियों और विद्यार्थियों को एनएच 44 से बचाया, जो अवरुद्ध था।

मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर के प्राचार्य प्रोफेसर कल्पेश निकावत ने बचाव कार्य के लिए भारतीय सेना की सराहना की है। उन्होंने कहा कि मेरे पास सेना को धन्यवाद देने के लिए शब्द नहीं हैं, जो ऐसे खराब मौसम में हमारे बचाव के लिए आगे आई और हमें भोजन और आश्रय प्रदान किया ... सेना को सलाम।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों और कर्मचारियों की कश्मीर की यात्रा शानदार रही, लेकिन भारी बर्फबारी के कारण जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने के कारण वे तीन दिनों तक काजीगुंड में फंसे रहे।

एक विद्यार्थी ने कहा, बनिहाल पार करने के बाद हमारी गाड़ी के ठीक 500 मीटर पहले भूस्खलन हुआ, जिससे हम डर गए थे। 

सेना की प्रशंसा करते हुए, एक प्रोफेसर ने कहा कि कर्मियों ने कुछ घंटों के भीतर मदद के लिए उनकी कॉल का जवाब दिया और हमें कंबल, भोजन और आश्रय प्रदान किया।

एक विद्यार्थी, जो बर्फीले तूफान में फंस गया था, ने कहा कि वह सहयोग के लिए सेना का आभारी हैं। उसने सेना के शिविर में अपने प्रवास को घर जैसा बताया।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

इजराइल से तनातनी के बीच पाकिस्तान गए ईरानी राष्ट्रपति इजराइल से तनातनी के बीच पाकिस्तान गए ईरानी राष्ट्रपति
इस्लामाबाद/दक्षिण भारत। ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर सोमवार को पाकिस्तान पहुंचे। इस पड़ोसी देश में 8...
ममता सरकार को बड़ा झटका, एसएलएसटी की चयन प्रक्रिया को उच्च न्यायालय ने अमान्य घोषित किया
गाजीपुर लैंडफिल में आग 'आप' के 'भ्रष्टाचार' का उदाहरण: दिल्ली भाजपा अध्यक्ष
केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे क्या अपनी सीट आसानी से निकाल लेंगी?
यह उदासीनता क्यों?
हुब्बली में नड्डा की हुंकार- खोखले नारों का सहारा नहीं लेते, मोदी की गारंटी पर है लोगों का विश्वास
हुब्बली: नेहा की हत्या के विरोध में मुस्लिम संगठनों ने किया बंद का आह्वान