आज के भारत ने छोटे सपने देखने छोड़ दिए, हम बड़े सपने देखते हैं: मोदी

प्रधानमंत्री ने रेलवे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन, लोकार्पण और शिलान्यास किया

आज के भारत ने छोटे सपने देखने छोड़ दिए, हम बड़े सपने देखते हैं: मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते 10 वर्षों में नई रेलवे लाइन बिछाने की गति दोगुनी हो गई है

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को रेलवे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन, लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आज का यह कार्यक्रम नए भारत की नई कार्य संस्कृति का प्रतीक है।

आज भारत जो करता है, अभूतपूर्व स्पीड से करता है। आज भारत जो करता है, अभूतपूर्व स्केल से करता है। आज के भारत ने छोटे-छोटे सपने देखना छोड़ दिया है। हम बड़े सपने देखते हैं और उन्हें पूरा करने के लिए दिन-रात एक कर देते हैं। यही संकल्प इस विकसित भारत, विकसित रेलवे कार्यक्रम में दिख रहा है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज रेलवे से जुड़ीं दो हजार से अधिक परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण हुआ है। अभी तो इस सरकार के तीसरे टर्म की शुरुआत जून महीने से होने वाली है। लेकिन अभी से जिस स्केल और स्पीड से काम होना शुरू हो गया है, वो सबको हैरत में डालने वाला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा तीसरा कार्यकाल जून में शुरू होगा, फिर भी जिस गति से हमने तत्काल प्रभाव से काम शुरू किया है, वह सभी को आश्चर्यचकित कर रहा है। कुछ दिन पहले मैंने जम्मू से आईआईटी और आईआईएम जैसे संस्थानों का उद्घाटन किया था। कल राजकोट से 6 एम्स का उद्घाटन किया गया। आज देश के 27 राज्यों के 300 से ज्यादा जिलों में 500 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों का शिलान्यास किया गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज उप्र के गोमती नगर के जिस रेलवे स्टेशन का लोकार्पण हुआ है, वह वाकई कमाल का दिखता है। इसके अलावा आज 1,500 से ज्यादा रोड, ओवरब्रिज, अंडरपास जैसी परियोजनाएं भी इसमें शामिल हैं। 40 हजार करोड़ की ये परियोजनाएं एक साथ जमीन पर उतर रही हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह दिखाता है कि भारत की प्रगति की रेल किस गति से आगे बढ़ रही है। मैं देश के विभिन्न राज्यों को, वहां के नागरिकों को, भाई-बहनों को और युवा साथियों को बहुत-बहुत बधाई देना चाहता हूं। क्योंकि इसके सबसे ज्यादा लाभार्थी युवा ही हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विकसित भारत युवाओं के सपनों का भारत है, इसलिए विकसित भारत कैसा होगा, ये तय करने का सबसे अधिक हक उन्हीं को है। मैं देश के हर नौजवान को बताना चाहता हूं कि आपका सपना ही मोदी का संकल्प है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते 10 वर्षों में हम सभी ने एक नया भारत बनते देखा है और रेलवे में परिवर्तन तो साक्षात् अपनी आंखों से देख रहे हैं। जो कभी कल्पना में सोचते थे, आज हम अपनी आंखों से देख रहे हैं। एक दशक पहले तक अमृत भारत जैसी आधुनिक ट्रेन की कल्पना बहुत मुश्किल थी। एक दशक पहले तक नमो भारत जैसी शानदार रेल सेवा के बारे में किसी ने कभी सोचा नहीं था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते 10 वर्षों में नई रेलवे लाइन बिछाने की गति दोगुनी हो गई है। जम्मू-कश्मीर से लेकर नॉर्थ-ईस्ट तक ... ऐसे स्थानों पर भी भारतीय रेल पहुंच रही है, जहां लोगों ने कल्पना तक नहीं की थी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज पूरी दुनिया में भारत को निवेश के लिए सबसे आकर्षक माना जा रहा है। इसका एक बड़ा कारण आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर भी है। आने वाले पांच वर्षों में जब ये हजारों स्टेशन आधुनिक हो जाएंगे, भारतीय रेल की क्षमता बढ़ जाएगी तो निवेश की एक बहुत बड़ी क्रांति आएगी। 

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'इंडि' गठबंधन के पक्ष में जन समर्थन की एक अदृश्य लहर है: खरगे का दावा 'इंडि' गठबंधन के पक्ष में जन समर्थन की एक अदृश्य लहर है: खरगे का दावा
खरगे ने अपने दामाद राधाकृष्ण दोड्डामणि के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया
आज का भारत मोदी के नेतृत्व में न तो किसी के पास गिड़गिड़ाता है, न ही पिछलग्गू है: नड्डा
अदालत ने कविता को 15 अप्रैल तक सीबीआई हिरासत में भेजा
मोदी का आरोप- कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, ये सीमावर्ती गांवों को 'आखिरी गांव' कहते हैं
नरम पड़े मालदीव के तेवर, भारत से आयात के लिए स्थानीय मुद्रा में भुगतान को लेकर कर रहा बात
ठगों से सावधान: आरबीआई में नौकरी के नाम लगा दिया 2 करोड़ रु. से ज्यादा का चूना
यह चुनाव सिर्फ सांसद चुनने का नहीं, बल्कि देश में मजबूत सरकार बनाने का है: मोदी