केरल: मदरसा शिक्षक हत्या मामले में अदालत ने आरएसएस के 3 कार्यकर्ताओं को बरी किया

आरोपियों ने बिना जमानत के सात साल जेल में बिताए

केरल: मदरसा शिक्षक हत्या मामले में अदालत ने आरएसएस के 3 कार्यकर्ताओं को बरी किया

Photo: PixaBay

कासरगोड/दक्षिण भारत। यहां की एक अदालत ने साल 2017 में जिले की मस्जिद के अंदर एक मदरसा शिक्षक की हत्या से संबंधित मामले में शनिवार को तीन आरएसएस कार्यकर्ताओं को बरी कर दिया।

कासरगोड प्रधान सत्र अदालत के न्यायाधीश केके बालाकृष्णन ने मामले में केलुगुडे के निवासियों अखिलेश, जितिन और अजेश को बरी कर दिया। आरोपियों ने बिना जमानत के सात साल जेल में बिताए।

चौंतीस वर्षीय मोहम्मद रियास मौलवी एक मुअज़्ज़िन और पास के चूरी के मदरसे में शिक्षक था। उसकी 20 मार्च, 2017 को मस्जिद के कमरे में हत्या कर दी गई थी। आरोप था कि मस्जिद परिसर में घुसे एक गिरोह ने कथित तौर पर उसका गला काट दिया था।

इस बीच, अभियोजन पक्ष ने फैसले पर निराशा व्यक्त की और कहा कि वे आदेश के खिलाफ अपील करेंगे।

अदालत ने इस मामले में 97 गवाहों, 215 दस्तावेजों और 45 भौतिक साक्ष्यों की जांच की, जिसमें 90 दिनों के भीतर आरोप पत्र दायर किया गया था।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

इजराइल से तनातनी के बीच पाकिस्तान गए ईरानी राष्ट्रपति इजराइल से तनातनी के बीच पाकिस्तान गए ईरानी राष्ट्रपति
इस्लामाबाद/दक्षिण भारत। ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर सोमवार को पाकिस्तान पहुंचे। इस पड़ोसी देश में 8...
ममता सरकार को बड़ा झटका, एसएलएसटी की चयन प्रक्रिया को उच्च न्यायालय ने अमान्य घोषित किया
गाजीपुर लैंडफिल में आग 'आप' के 'भ्रष्टाचार' का उदाहरण: दिल्ली भाजपा अध्यक्ष
केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे क्या अपनी सीट आसानी से निकाल लेंगी?
यह उदासीनता क्यों?
हुब्बली में नड्डा की हुंकार- खोखले नारों का सहारा नहीं लेते, मोदी की गारंटी पर है लोगों का विश्वास
हुब्बली: नेहा की हत्या के विरोध में मुस्लिम संगठनों ने किया बंद का आह्वान