आईटीआई लि. ने लेखा वायरलेस, निरल नेटवर्क्स और इंस्टाआईसीटी सॉल्यूशन के साथ साझेदारी की

यह एमओयू दूरसंचार क्षेत्र में इन संस्थाओं के बीच महत्त्वपूर्ण साझेदारी की शुरुआत का प्रतीक है

आईटीआई लि. ने लेखा वायरलेस, निरल नेटवर्क्स और इंस्टाआईसीटी सॉल्यूशन के साथ साझेदारी की

आईटीआई लि. 5जी प्राइवेट (कैप्टिव और नॉन-कैप्टिव) नेटवर्क सॉल्यूशंस को लागू करने के लिए सहयोग करेगा

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। प्रमुख टेलीकॉम विनिर्माण कंपनी आईटीआई लिमिटेड ने किसी उद्यम के लिए संपूर्ण निजी 5जी पारिस्थितिकी तंत्र बनाने और मैनेज करने, यानी योजना, डिजाइन, तैनाती, कार्यान्वयन आदि के लिए लेखा वायरलेस, निरल नेटवर्क्स और इंस्टाआईसीटी सॉल्यूशन प्रा. लिमिटेड के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। 

पंद्रह फरवरी को हस्ताक्षरित यह एमओयू दूरसंचार क्षेत्र में इन संस्थाओं के बीच महत्त्वपूर्ण साझेदारी की शुरुआत का प्रतीक है। एमओयू की शर्तों के तहत, आईटीआई लि. 5जी प्राइवेट (कैप्टिव और नॉन-कैप्टिव) नेटवर्क सॉल्यूशंस को लागू करने के लिए लेखा वायरलेस, निरल नेटवर्क्स और इंस्टाआईसीटी सॉल्यूशन के साथ सहयोग करेगा।

यह सहयोग भारत में दूरसंचार बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए उन्नत प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने के वास्ते प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

बता दें कि आईटीआई लि. सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है, जो दूरसंचार उत्पादों के विकास, विनिर्माण और विपणन में विशेषज्ञता रखता है। निरल नेटवर्क्स, निरलओएस 5जी कोर, मल्टी-एक्सेस एज कंप्यूट (एमईसी) और एसडीएन कंट्रोलर सहित निजी 5जी उत्पादों और एज सॉल्यूशंस में अपनी विशेषज्ञता के लिए प्रसिद्ध है। लेखा वायरलेस सॉल्यूशंस साल 2010 में स्थापित एक डीप टेक कंपनी है, जिसका मुख्यालय बेंगलूरु में है।

इस अवसर पर आईटीआई लि. के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक राजेश राय ने कहा, 'हम भारत में निजी 5जी प्रौद्योगिकी स्टैक की क्षमता का उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह एमओयू 5जी प्रौद्योगिकी द्वारा संचालित विभिन्न क्षेत्रों में नवाचार और डिजिटल परिवर्तन को बढ़ावा देने में महत्त्वपूर्ण मुकाम को दर्शाता है। आईटीआई लि. 5जी जैसी दूरसंचार प्रौद्योगिकियों को अपनाने की भारत की यात्रा में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाना चाहता है।'

निरल नेटवर्क्स के निदेशक और सीईओ अभिजीत चौधरी ने कहा, 'हमें आईटीआई लि. के साथ साझेदारी करके खुशी हो रही है। हम डिजिटल सशक्तीकरण की दिशा में भारत की यात्रा को तेज करने में भूमिका निभाने के लिए सामूहिक विशेषज्ञता का लाभ उठाने के वास्ते तत्पर हैं।'

iti2

लेखा वायरलेस सॉल्यूशन के संस्थापक और निदेशक रामू टीएस ने कहा, 'यह एक महत्त्वपूर्ण समझौता है, जो लेखा को सरकारी क्षेत्र में तेजी से बढ़ती निजी 5जी नेटवर्क मांग को पूरा करने के लिए हमारे 5जी आरएएन उत्पाद का व्यावसायीकरण करने में सक्षम बनाता है। हम देश में कैप्टिव नॉन-पब्लिक नेटवर्क (सीएनपीएन) या प्राइवेट 5जी नेटवर्क के कार्यान्वयन में तेजी लाने के लिए आईटीआई लि. के नेतृत्व वाले इस कंसोर्टियम आधारित 5जी नेटवर्क समाधान की आशा करते हैं।'

इंस्टा आईसीटी सॉल्यूशंस के सीईओ यशवंत शिंदे ने कहा, 'हम भारत में उद्योगों द्वारा निजी 5जी को अपनाने में तेजी लाने के लिए आईटीआई लि. के साथ साझेदारी करके उत्साहित हैं। हमारी डोमेन विशेषज्ञता और वायरलेस नेटवर्क की योजना-प्रबंधन क्षमताएं आईटीआई लि. के साथ मिलकर विभिन्न उद्योगों को बेहतर निजी 5जी नेटवर्क प्रदान करेंगी।'

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ज़िंदगी से खिलवाड़ ज़िंदगी से खिलवाड़
हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में स्कूल बस हादसे में छह बच्चों की मौत होना अत्यंत दु:खद है। यह हादसा अपने...
'इंडि' गठबंधन के पक्ष में जन समर्थन की एक अदृश्य लहर है: खरगे का दावा
आज का भारत मोदी के नेतृत्व में न तो किसी के पास गिड़गिड़ाता है, न ही पिछलग्गू है: नड्डा
अदालत ने कविता को 15 अप्रैल तक सीबीआई हिरासत में भेजा
मोदी का आरोप- कांग्रेस की सोच विकास विरोधी, ये सीमावर्ती गांवों को 'आखिरी गांव' कहते हैं
नरम पड़े मालदीव के तेवर, भारत से आयात के लिए स्थानीय मुद्रा में भुगतान को लेकर कर रहा बात
ठगों से सावधान: आरबीआई में नौकरी के नाम लगा दिया 2 करोड़ रु. से ज्यादा का चूना