प्रशासन में बेटे का दखल नहीं, उनका नाम घसीटना सुनियोजित साजिश: येडियुरप्पा

प्रशासन में बेटे का दखल नहीं, उनका नाम घसीटना सुनियोजित साजिश: येडियुरप्पा

प्रशासन में बेटे का दखल नहीं, उनका नाम घसीटना सुनियोजित साजिश: येडियुरप्पा

बेंगलूरु/भाषा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने उन दावों को बकवास करार दिया है जिनमें कहा जा रहा है कि उनके बेटे बीवाई विजयेंद्र प्रशासन में हस्तक्षेप कर रहे हैं। येडियुरप्पा ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि उनके बेटे का नाम इसमें लाकर भ्रम की स्थिति पैदा करने के लिए सुनियोजित षड्यंत्र रचा जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह मंत्रिमंडल विस्तार तथा राज्य के विकास से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने के लिए नई दिल्ली में प्रधानमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिलने पहुंचे। उन्होंने जद (एस) नेता एचडी कुमारस्वामी के साथ हाल में बैठक करने की अटकलें भी खारिज कीं।

येडियुरप्पा ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘आमतौर पर लोग तरक्की करने वालों को बर्दाश्त नहीं कर पाते। विजयेंद्र ने कभी भी दखल (प्रशासन में) नहीं दिया।’ उन्होंने कहा, ‘कर्नाटक भाजपा के उपाध्यक्ष के तौर पर वह अपना काम कर रहे हैं, राज्यभर में यात्रा कर पार्टी को मजबूत कर रहे हैं।’

विपक्ष के नेता सिद्दरामैया ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया था कि विजयेंद्र प्रशासन में दखलंदाजी कर रहे हैं और असल मुख्यमंत्री वह ही हैं। येडियुरप्पा मंत्रिमंडल में अभी 28 सदस्य हैं, छह पद अभी खाली हैं। येडियुरप्पा की आयु के मद्देनजर भविष्य में नेतृत्व में संभावित बदलाव को लेकर भी अटकलें लग रही हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?