निगम अपने सभी 15 क्षेत्रों में करेगा पार्किंग लॉट का निर्माण

निगम अपने सभी 15 क्षेत्रों में करेगा पार्किंग लॉट का निर्माण

चेन्नई। शहर के वाहन चालकों के लिए सबसे ब़डी समस्या यह है कि शहर के लगभग सभी इलाकों में उन्हें अपने वाहन पार्क करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना प़डता है। अब इस समस्या का समाधान करने के लिए नगर निगम ने शहर के सभी १५ क्षेत्रों में पार्किंग लॉट बनाने का निर्णय लिया है। मौजूदा समय में निगम के अधिकार क्षेत्र में कुल मिलाकर १०० पार्किंग लॉट हैं और इनमें एक घंटे के लिए चार पहिया वाहनों को पार्क करने के लिए २० रुपए और दो पहिया वाहनों को पार्क करने की सुविधा नि:शुल्क है। निगम के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार नए पार्किंग लॉट के निर्माण की योजना अंतिम चरण में है और जल्द ही इसके लिए निविदाएं आमंत्रित की जा सकती हैं।निगम के अधिकारियों के अनुसार नए प्रस्ताव के अनुसार शहर के सभी क्षेत्रों में ३७८ स्थान चिन्हित किए गए हैं। इन सुविधाओं का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद १,४७८ बाइकों और ५,३८९ कारों को पार्क करने की सुविधा मिल सकेगी। इन पार्किंग लॉटों में भी अन्य पार्किंग लॉटों की तरह ही पार्किंग शुल्क लिया जाएगा। सामान्य पार्किंग लॉट के साथ ही नगर निगम द्वारा अन्ना नगर, तेनमपेट और अड्यार जैसे क्षेत्रों में प्रीमियम पार्किंग लॉटों का निर्माण किया जाएगा जिनमें वाहनों को एक घंटे के लिए पार्क करने का शुल्क ४० रुपए होगा। अधिकारियों के अनुसार इन सभी इलाकों में पार्किंग सुविधा का अभाव है और स्थानीय लोगों द्वारा काफी लंबे समय से पार्किंग लॉट बनाने की मांग की जा रही थी। नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार इन नए पार्किंग लॉटों का निर्माण होने के बाद निगम को सालाना ३७ करो़ड रुपए का राजस्व प्राप्त होगा। कुछ इसी प्रकार से निगम ने शहर के सभी वार्डों में साइकिल स्टैंड बनाने का मसौदा भी तैयार कर लिया है। इन साइकिल स्टैंडों को स्कूलों, बस स्टैंडों, रेलवे स्टेशनों और एमआरटीएस स्टेशनों के निकट किया जाएगा। मंदिरों और पूजा स्थलों के निकट भी साइकिल स्टैंड बनाए जाएंगे जहां से नागरिक काफी कम किराए पर साइकिल किराए पर ले सकेंगे। निगम के सूत्रों के अनुसार इसी वर्ष मई महीने में साइकिल स्टैंड बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था और अब मौजूदा प्रस्ताव में कुछ परिवर्तन किया गया है।अधिकारियों के अनुसार शहर में १० फीट स़डक और साइकिल लेन का निर्माण दो चरणों में किया जाएगा। पहले चरण में राजा अन्नमलैपुरम, मरीना बीच, तेनमपेट, टी नगर, गोपालपुरम, एग्मोर, चेटपेट और नुंगमबाक्कम में पैदल यात्रियों के लिए पाथवे और साइकिल लेन बनाया जाएगा। दूसरे चरण में अड्यार, बसंंत नगर, तिरुवानमियूर, अन्ना नगर, केके नगर, कोडमबाक्कम और गिंडी में यह सुविधाएं विकसित की जाएंगी। शहर भर में बनाए जाने वाले साइकिल स्टैंडों में ४,९७६ साइकिलें रखी जाएंगे। इसके लिए ४४.१८ करो़ड रुपए की लागत से साइकिलें खरीदी जाएंगी। पहले घंटे के लिए साइकिल को नि:शुल्क प्राप्त किया जा सकेगा और उसके बाद हर डेढ घंटे के लिए उपयोगकर्ताओं से केवल ५ रुपए लिए जाएंगे।शहर में 10 फीट सड़क और साइकिल लेन का निर्माण दो चरणों में किया जाएगा। पहले चरण में राजा अन्नमलैपुरम, मरीना बीच, तेनमपेट, टी नगर, गोपालपुरम, एग्मोर, चेटपेट और नुंगमबाक्कम में पैदल यात्रियों के लिए पाथवे और साइकिल लेन बनाया जाएगा। दूसरे चरण में अड्यार, बसंंत नगर, तिरुवानमियूर, अन्ना नगर, केके नगर, कोडमबाक्कम और गिंडी में यह सुविधाएं विकसित की जाएंगी।

 

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News