मप्र 10वीं बोर्ड परीक्षा के शेष बचे पेपर के बारे में सीएम शिवराज ने की यह बड़ी घोषणा

मप्र 10वीं बोर्ड परीक्षा के शेष बचे पेपर के बारे में सीएम शिवराज ने की यह बड़ी घोषणा

भोपाल/भाषा। कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली शैक्षणिक वर्ष 2019-2020 की 10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा के शेष बचे पेपरों की परीक्षा नहीं ली जाएगी। विद्यार्थियों को शेष बचे हुए पेपरों में बिना परीक्षा दिए पास कर दिया जाएगा।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार रात को इसकी घोषणा करते हुए कहा, ‘मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली कक्षा 10वीं की परीक्षा के शेष बचे पेपर की परीक्षा नहीं ली जाएगी।’ उन्होंने कहा, ‘जिन विषयों की परीक्षा हो चुकी है, उन्हीं के अंक के आधार पर मेरिट तैयार की जाएगी। बचे हुए विषय के आगे ‘पास’ लिखा जाएगा।’

इसके अलावा, चौहान ने कहा कि 12वीं की बोर्ड परीक्षा बच्चों के भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। 12वीं का परीक्षा परिणाम उनका भविष्य निर्धारित करता है, इसलिए मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित 12वीं की बोर्ड परीक्षा के जो पेपर बचे हुए हैं, उनकी परीक्षा 8 जून 2020 से 16 जून 2020 के बीच आयोजित की जाएगी।

मालूम हो कि मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल 2019-2020 की बिना वार्षिक परीक्षा लिए पहली कक्षा से लेकर 9वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के साथ-साथ 11वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पहले ही 28 मार्च को पास कर उन्हें जनरल प्रमोशन दे चुका है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ... हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
नेहा की अपने पिता के साथ एक तस्वीर। साभार: niranjan.hiremath.75 फेसबुक पेज।
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना
बेंगलूरु में बोले मोदी- कांग्रेस ने टैक्स सिटी को टैंकर सिटी बना दिया
भाजपा के 'न्यू इंडिया' में असहमति की आवाजें खामोश कर दी जाती हैं: प्रियंका वाड्रा
कांग्रेस एक ऐसी बेल, जिसकी अपनी न कोई जड़ और न जमीन है: मोदी