नेटफ्लिक्स इंडिया ने लघु फिल्म कार्यशाला और प्रतियोगिता 'टेक टेन' की घोषणा की

नेटफ्लिक्स इंडिया ने लघु फिल्म कार्यशाला और प्रतियोगिता 'टेक टेन' की घोषणा की

इसके अंतर्गत 10 फिल्म निर्माताओं को क्रिएटिव इंडस्ट्री के दिग्गजों की कार्यशालाओं में भाग लेने का मौका मिलेगा


नई दिल्ली/दक्षिण भारत। नेटफ्लिक्स इंडिया ने लघु फिल्म कार्यशाला और प्रतियोगिता 'टेक टेन' की घोषणा की है। इसका उद्देश्य देश में विविध पृष्ठभूमि के उभरते फिल्म निर्माताओं को खोजना और उनका समर्थन करना है। इसके अंतर्गत 10 फिल्म निर्माताओं को क्रिएटिव इंडस्ट्री के दिग्गजों की कार्यशालाओं में भाग लेने का मौका मिलेगा। साथ ही 10,000 डॉलर के अनुदान के साथ पूरी तरह से वित्त पोषित लघु फिल्म बनाने का मौका दिया जाएगा। इन फिल्मों को नेटफ्लिक्स इंडिया के यूट्यूब चैनल पर प्रस्तुत किया जाएगा।

टेक टेन नेटफ्लिक्स फंड फॉर क्रिएटिव इक्विटी द्वारा प्रायोजित है, जिसने दुनियाभर में प्रोग्राम्स के जरिए टीवी और फिल्म उद्योगों में सफलता के लिए कम प्रतिनिधित्व वाले समुदायों को स्थापित करने हेतु पांच वर्षों में 100 मिलियन डॉलर प्रतिवर्ष दिए हैं।

इस संबंध में नेटफ्लिक्स में एपीएसी, विदेश मामलों की प्रमुख एमी सविता लेफेवरे ने कहा, 'हम भारत में 'टेक टेन' को लॉन्च करके उत्साहित हैं - जो कि एक लघु फिल्म कार्यशाला और प्रतियोगिता है जो भारत के किसी भी हिस्से के इच्छुक फिल्म निर्माताओं को अपनी कहानियां कहने का मौका देगी। नेटफ्लिक्स के फंड फॉर क्रिएटिव इक्विटी द्वारा समर्थित, 'टेक टेन' से पता चलता है कि शानदार कहानियां कहीं से भी आ सकती हैं और यह फिल्म निर्माताओं के लिए उद्योग के कुछ सर्वश्रेष्ठ लोगों से प्रशिक्षण प्राप्त करने के नए अवसर देती है।'

फिल्म समीक्षक, लेखिका और फिल्म सहयोगी संपादक अनुपमा चोपड़ा, जो कार्यक्रम का नेतृत्व कर रही हैं, ने कहा, 'टेक टेन कहानी कहने और मौलिकता का सेलिब्रेशन है। कार्यशाला और प्रतियोगिता का उद्देश्य समावेशी होना और भारत में कैमरे के पीछे और सामने की विविध आवाजों को प्रदर्शित करना है।' उन्होंने कहा, 'मुझे उम्मीद है कि टेक टेन भारतभर के कलाकारों को अपने पैर जमाने और ऊंची उड़ान भरने में सक्षम बनाएगा।'

ये होंगे नियम
• आवेदक भारत का नागरिक या निवासी और 18 वर्ष से अधिक आयु का होना चाहिए। 
• पंजीकरण 7 फरवरी 2022 से www.taketen.in पर किया जा सकेगा। इसमें प्रवेश के लिए, आवेदकों को 'माई इंडिया' विषय पर आधारित दो मिनट तक की एक फिल्म सब्मिट करनी है, जो उनके फोन से शूट की गई होनी चाहिए और उससे पता चलना चाहिए कि वे एक फिल्म निर्माता के रूप में कौन हैं। आवेदनों की समीक्षा पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर की जाएगी। 
• शॉर्टलिस्ट किए गए प्रतिभागियों को न केवल अपने लघु फिल्म विचार को जीवंत करने का मौका मिलेगा, बल्कि उन्हें अभिषेक चौबे, हंसल मेहता, जूही चतुर्वेदी, नीरज घायवान और गुनीत मोंगा सहित पुरस्कार विजेता प्रतिभाओं से लेखन, निर्देशन, निर्माण और बहुत कुछ सीखने का मौका मिलेगा।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

कर्नाटक सरकार राज्य के अंदर और बाहर कन्नडिगों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध: बोम्मई कर्नाटक सरकार राज्य के अंदर और बाहर कन्नडिगों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध: बोम्मई
यहां पत्रकारों से बात करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों राज्यों के लोगों के बीच सद्भाव है
अफगानिस्तान: सड़क किनारे बम धमाका कर पेट्रोलियम कंपनी के 7 कर्मचारियों को बस समेत उड़ाया
भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर, विश्व बैंक ने वृद्धि दर अनुमान इतना बढ़ाया
सीमा विवाद: महाराष्ट्र के मंत्रियों के बेलगावी जाने की संभावना नहीं!
बाबरी विध्वंस के तीन दशक बाद अब क्या कहते हैं अयोध्या के लोग?
जनता की प्रतिक्रिया
गुजरात और हिप्र के एग्जिट पोल: भाजपा की सत्ता जारी या कांग्रेस की बारी?