बजरंग ने जीता स्वर्ण, तेजिंदर ने गोला फेंक में लहराया परचम

बजरंग ने जीता स्वर्ण, तेजिंदर ने गोला फेंक में लहराया परचम

तेजिंदर एवं बजरंग

नई दिल्ली/वार्ता। भारत के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने अपनी श्रेष्ठता बरकरार रखते हुए चीन में चल रही एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता के 65 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में मंगलवार के दिन स्वर्ण पदक जीत लिया। प्रवीण राणा को 79 किग्रा में रजत और सत्यव्रत कादियान को 97 किग्रा में कांस्य पदक मिला जबकि रवि कुमार 57 किग्रा में कांस्य पदक से चूक गए।

राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता तथा विश्व चैंपियनशिप के रजत विजेता बजरंग ने फाइनल में कजाखिस्तान के सयातबेक ओकासोव को 12-7 से पराजित किया। बजरंग के स्वर्ण जीतते ही उनके हरियाणा के सोनीपत स्थित योगेश्वर दत्त अखा़डे में ख़ुशी की लहर दौ़ड गयी। बजरंग के गुरु योगेश्वर और अखा़डे के कोच द्रोणाचार्य अवार्डी रामफल ने बजरंग को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है।

विश्व के नंबर एक पहलवान बजरंग ने मुकाबले में शानदार वापसी करते हुए जीत हासिल की। वह पहले राउंड में 2-5 से पिछ़ड गए थे लेकिन उन्होंने वापसी करते हुए मुकाबला १२-७ से जीत लिया। बजरंग ने 2017 में दिल्ली में यह खिताब जीता था जबकि अगले वर्ष भिस्केक में उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना प़डा था। उन्होंने इस बार फाइनल में एशियाई खेलों के कांस्य पदक विजेता ओकासोव को हराया।भारतीय पहलवान पहले मिनट में 0-4 से पिछ़ड गए। ब्रेक पर ओकासोव ने 5-2 की ब़ढत बना ली। दूसरे राउंड में ओकासोव की ब़ढत 7-2 पहुंच गयी। लेकिन मुकाबले में एक मिनट शेष रहते बजरंग ने जवाबी हमला किया और ओकासोव को दांव में फंसाते हुए दो अंक लेकर स्कोर 4-7 कर दिया।

बजरंग ने विपक्षी पहलवान को फिर कोई मौका नहीं दिया और स्वर्ण पदक जीतकर ही दम लिया।एशियाई खेलों के स्वर्ण विजेता तेजिंदर पाल सिंह तूर ने अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुये एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पुरूष गोला फेंक स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीत लिया। तेजिंदर ने सत्र का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुये 20.22 मीटर तक गोला फेंका और स्वर्ण पदक जीता। भारत का इस प्रतियोगिता में यह दूसरा स्वर्ण पदक है।

सोमवार को गोमती मरिमुथु ने महिला 800 मीटर दौ़ड का स्वर्ण पदक जीता था। भारत ने प्रतियोगिता में दो स्वर्ण, तीन रजत और पांच कांस्य पदक सहित कुल 10 पदक जीत लिये हैं और वह पदक तालिका में चीन और बहरीन के बाद तीसरे स्थान पर है। गोला फेंक मुकाबले में भारतीय एथलीट ने चीन और कजाखिस्तान के एथलीटों को पीछे छोड़ा।

चीन के वू जियाजियांग ने 20.03 मीटर के साथ रजत और कजाखिस्तान के इवान इवानोव ने 19.09 मीटर के साथ कांस्य पदक जीता। तेजिंदर ने हालांकि स्वर्ण पदक जीता लेकिन वह एशियाई खेलों के अपने प्रदर्शन को पीछे नहीं छो़ड पाये। पंजाब के इस एथलीट ने जकार्ता एशियाई खेलों में 20.75 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने 2017 में भुवनेश्वर में हुयी एशियाई चैंपियनशिप में 19.77 मीटर की थ्रो के साथ रजत पदक जीता था।

Google News
Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने संकल्प लिया था कि सिंदरी के इस खाद कारखाने को जरूर शुरू करवाऊंगा
विधानसभा अध्यक्ष के आदेश के खिलाफ ठाकरे गुट की याचिका पर 7 मार्च को सुनवाई करेगा उच्चतम न्यायालय
बांग्लादेश: ढाका की बहुमंजिला इमारत में आग लगने से 45 लोगों की मौत
हिंसा का चक्र कब तक?
उदित राज ने भाजपा पर दलितों, पिछड़ों, महिलाओं और आदिवासियों की अनदेखी का आरोप लगाया
केंद्रीय कैबिनेट ने 75 हजार करोड़ रुपए की रूफटॉप सोलर योजना को मंजूरी दी
मंदिर संबंधी विधेयक कर्नाटक विधानसभा से फिर पारित हुआ