‘बिगबॉस’ में आत्महत्या का प्रयास, जुबैर ने कराई सलमान के खिलाफ एफआईआर

‘बिगबॉस’ में आत्महत्या का प्रयास, जुबैर ने कराई सलमान के खिलाफ एफआईआर

मथुरा। हमेशा लड़ाई-झगड़ों, गाली-गलौच व किसी न किसी वजह से विवादों तथा चर्चा में रहने वाले टेलीविजन के अनोखे शो ‘बिगबॉस’ के ग्यारहवें सीजन में पहली बार आत्महत्या करने जैसा वाकया हो गया। यही नहीं आत्महत्या करने वाले प्रतिभागी जुबैर खान ने शो के होस्ट सलमान खान के विरुद्ध एफआईआर तक दर्ज करा दी।

जानकारी के मुताबिक शो के ग्रेंड प्रीमियर से ही प्रतिभागियों के बीच लड़ाई के सिलसिले ने इतना उग्र रुप ले लिया कि वीकेंड में जब शो के संचालक सलमान खान ने बिगबॉस के परिवार में शिरकत की तो उन्होंने सभी को खरी-खरी सुना डाली।

बताते हैं कि पूरे हफ्ते सबसे ज्यादा चर्चा में रहे जुबैर खान को इस खरी-खोटी का सर्वाधिक शिकार होना पड़ा। फलस्वरुप जुबैर ने बिगबॉस के घर में ही स्लिपिंग पिल्स खा कर आत्महत्या करने की कोशिश की, जिसके बाद उन्हें अस्पताल भेजा गया।

बिगबॉश शो से बाहर निकले व होश में आने पर जुबैर ने स्वयं को सलमान द्वारा धमकी दिए जाने की एफआईआर दर्ज कराते हुए उसमें लिखा है कि ‘शो के संचालक सलमान खान ने मुझे कहा है कि तेरे को कुत्ता बनाउंगा, तू बाहर निकल-तुझे नहीं छोड़ूंगा।

जुबैर खान द्वारा दर्ज मामले में यह भी कहा गया है कि सलमान ने उसे इंडस्ट्री में काम नहीं करने देने, खूब मारने तक की धमकी भी दी।

जानकारी के मुताबिक इससे पूर्व शो के पहले ही हफ्ते में सलमान ने प्रियांक शर्मा को अक्षय ददलानी को धक्का दिए जाने की वजह से बिगबॉस के घर से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। उन्होंने सभी से घर में अच्छा बर्ताव करने के लिए भी कहा।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

कर्नाटक सरकार राज्य के अंदर और बाहर कन्नडिगों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध: बोम्मई कर्नाटक सरकार राज्य के अंदर और बाहर कन्नडिगों के हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध: बोम्मई
यहां पत्रकारों से बात करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों राज्यों के लोगों के बीच सद्भाव है
अफगानिस्तान: सड़क किनारे बम धमाका कर पेट्रोलियम कंपनी के 7 कर्मचारियों को बस समेत उड़ाया
भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर, विश्व बैंक ने वृद्धि दर अनुमान इतना बढ़ाया
सीमा विवाद: महाराष्ट्र के मंत्रियों के बेलगावी जाने की संभावना नहीं!
बाबरी विध्वंस के तीन दशक बाद अब क्या कहते हैं अयोध्या के लोग?
जनता की प्रतिक्रिया
गुजरात और हिप्र के एग्जिट पोल: भाजपा की सत्ता जारी या कांग्रेस की बारी?