मानसिक बीमारी से जूझने वाली लड़की की कहानी है बॉर्डरलाइन

मानसिक बीमारी से जूझने वाली लड़की की कहानी है बॉर्डरलाइन

नई दिल्ली। लेखिका शबरी प्रसाद सिंह का पहला काल्पनिक उपन्यास बॉर्डरलाइन का विमोचन हो गया है और अब यह प़ढने के लिए बुक स्टॉलों पर उपलब्ध है। यह उपन्यास मानसिक बीमारी बॉर्डरलाइन पर्सनालिटी डिसऑर्डर (बीपीडी) से जूझने वाली एक ल़डकी के जीवन के सफर की कहानी कहता है।शबरी प्रसाद का कहना है कि यह उपन्यास बहुत हद तक उनके बारे में है। वह बताती हैं कि निजी अनुभवों के जरिए उन्हें पता है कि मानसिक तौर पर बीमार रहने वाले लोगों को मदद और दवाओं दोनों की जरूरत होती है। वह कहती हैं कि उपन्यास में बताया गया है कि ऐसी बीमारियों से परेशान रहने वाले लोगों को इस बारे में बात करने में शर्म महसूस नहीं करनी चाहिए। उन्हें भी गरिमा के साथ जीने का अधिकार होता है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा