मंत्रियों और विधायकों के बच्चों को टिकट देने के पक्षधर नहीं हैं परमेश्वर

मंत्रियों और विधायकों के बच्चों को टिकट देने के पक्षधर नहीं हैं परमेश्वर

बेंगलूरु। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जी. परमेश्वर ने कहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव-२०१८ में हम मौजूदा मंत्रियों और विधायकों के बच्चों को टिकट देने के खिलाफ हैं। कांग्रेस के सभी मौजूदा विधायकों को उम्मीदवार बनाया जाएगा या नहीं यह अभी तक तय नहीं है। उन्होंने कहा कि इसकी कोई गारंटी नहीं है कि सभी विधायकों को फिर से उम्मीदवार बनाया जाएगा। एक कन्ऩड दैनिक से बात करते हुए परमेश्वर ने ये बातें कहीं। परमेश्वर की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब न सिर्फ कई मंत्रियों और विधायकों ने खुले तौर पर अपने बच्चों के लिए विधानसभा चुनाव में टिकट की इच्छा व्यक्त की है बल्कि मुख्यमंत्री सिद्दरामैया और मंत्री महादेवप्पा जैसे वरिष्ठ नेताओं ने स्पष्ट रूप से कह रखा है कि उनके बच्चे आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाएंगे। परमेश्वर ने कहा कि वे खुद पिछले सात साल से केपीसीसी अध्यक्ष हैं और इसकी वजह उनका प्रदर्शन रहा है। उन्होंने कहा कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि राज्य में मुख्यमंत्री पद के कई उम्मीदवार हैं जिनमें एक नाम उनका भी रहा है लेकिन यह विधानसभा चुनाव के बाद तय होना है कि कौन मुख्यमंत्री बनेगा और अगर पार्टी हाईकमान की मर्जी रही तो सिद्दरामैया ही मुख्यमंत्री बने रहेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से एकजुट है और उनके तथा सिद्दरामैया के बीच मतभेद जैसी कोई बात नहीं है। हालांकि उन्होंने कहा कि कुछ मुद्दों को लेकर सिद्दरामैया और उनके बीच असहमतियां रही हैं जो बेहद सामान्य हैं लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि हम दोनों भाजपा नेताआंे की भांति सार्वजनिक रूप से मतभेद प्रकट करें। परमेश्वर ने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत का भरोसा व्यक्त करते हुए कहा कि टिकट आवंटन करते समय सिर्फ एक ही मापदंड होगा कि जो उम्मीदवार चुनाव जीतने में सक्षम हों उन्हें ही उम्मीदवार बनाया जाए। इसके अतिरिक्त परिवारवाद और सिफारिशों के आधार पर टिकट आवंटन की गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्षों के दौरान कई सक्रिय पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपनी पहचान बनाई है और उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि राज्य की जनता चाहती है कि कांग्रेस दोबारा राज्य में सत्तासीन हो क्योंकि सिद्दरामैयानीत कांग्रेस सरकार पिछले चार वर्षों के दौरान जनहित में कई योजनाएं और कार्यक्रमों को सफलता पूर्वक क्रियान्वित किया है जिससे विविध क्षेत्रों में करो़डों नागरिक सीधे तौर पर लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कर्नाटक में सक्रिय होने से कांग्रेस में भय जैसी बातें पूरी तरह से बेबुनियाद और अफवाह है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News