प्रज्ज्वल मामला: सीएन अश्वत्थ नारायण बोले- इस एसआईटी से सच्चाई सामने लाने की उम्मीद नहीं

उन्होंने कहा कि सभी को देश के कानून का सम्मान करना चाहिए

प्रज्ज्वल मामला: सीएन अश्वत्थ नारायण बोले- इस एसआईटी से सच्चाई सामने लाने की उम्मीद नहीं

'न्याय पाने के लिए न्यायालय की निगरानी वाली एसआईटी या सीबीआई ही एकमात्र रास्ता है'

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता सीएन अश्वत्थ नारायण ने प्रज्ज्वल रेवन्ना मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि इस एसआईटी से सच्चाई सामने लाने की उम्मीद नहीं कर सकते। 

जद (एस) के निलंबित सांसद प्रज्ज्वल रेवन्ना के बारे में पूछे जाने पर सीएन अश्वत्थ नारायण ने कहा कि अच्छी बात है कि वे वापस आ रहे हैं। वे कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ सहयोग करने जा रहे हैं।

सीएन अश्वत्थ नारायण ने कहा कि सभी को देश के कानून का सम्मान करना चाहिए। हम इस एसआईटी से सच्चाई सामने लाने की उम्मीद नहीं कर सकते। न्याय पाने के लिए न्यायालय की निगरानी वाली एसआईटी या सीबीआई ही एकमात्र रास्ता है।

सीएन अश्वत्थ नारायण ने महर्षि वाल्मीकि निगम के एक अधिकारी की मौत पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार किसी जिम्मेदार सरकारी अधिकारी ने अपने सुसाइड नोट में आत्महत्या का मुख्य कारण और जिम्मेदार लोगों का स्पष्ट उल्लेख किया है। घोटाला कैसे हुआ, इसका दुरुपयोग कैसे हुआ और कैसे सरकारी पैसे को सीधे निकाल लिया गया?

सीएन अश्वत्थ नारायण ने कहा कि एफआईआर में मंत्रियों या मुख्यमंत्री का नाम नहीं है, लेकिन सुसाइड नोट में लिखा है कि यह सब उनकी वजह से हुआ। सच्चाई सामने लाने के लिए उसे अपनी जान देनी पड़ रही है। यह ग़ैर-ज़िम्मेदार और बेशर्म कांग्रेस सरकार कार्रवाई या जवाब तक नहीं दे रही है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List