किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह

केंद्रीय गृह मंत्री ने ओडिशा के संबलपुर में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित किया

किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह

शाह ने कहा कि नवीन बाबू की सरकार झोले की सरकार है

संबलपुर/दक्षिण भारत। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर में भाजपा की चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव के इन 5 चरणों में मोदी 310 पार कर गए हैं। अब छठे और सातवें चरण में आपको 400 पार कराना है।

शाह ने कहा कि इस बार ओडिशा में हर जगह 'कमल' खिलेगा। देशभर के मतदाताओं के लिए सिर्फ 400 पार का लक्ष्य है, लेकिन मेरे ओडिया भाइयों को इसके साथ-साथ विधानसभा में भी 75 से ज्यादा सीटों पर कमल खिलाना है।

शाह ने कहा कि यह चुनाव देश को समृद्ध, सुरक्षित और मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने का चुनाव है। वहीं, दूसरी ओर ओडिशा को समृद्ध करने और ओडिया भाषा, साहित्य, कला और संस्कृति के सम्मान को फिर से प्रस्थापित करने का चुनाव है।

शाह ने कहा कि बीजद सरकार ओडिशा को बर्बाद कर रही है। नवीन बाबू ओडिशा पर 'बाबू शाही' थोप रहे हैं और ओडिया लोगों की गरिमा को ठेस पहुंचा रहे हैं। नवीन बाबू ओडिशा की संस्कृति और गौरव का 'गला घोंट' रहे हैं।

शाह ने कहा कि मोदी ने हमेशा ओडिया भाषा और संस्कृति का गौरव बढ़ाने का काम किया है। मोदी ने हमारे ओडिशा के गरीब और आदिवासी के घर की बेटी द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति बनाकर समग्र ओडिशा का सम्मान करने का काम किया है।

शाह ने कहा कि हम ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं, जिसमें किसी युवा को अपना परिवार छोड़कर अन्य राज्य में मजदूरी करने न जाना पड़े। उसे अपने प्रदेश में ही काम मिल जाए। आप भाजपा की सरकार बना दीजिए। हम मेहनत करने वाला युवा और जोशीला मुख्यमंत्री देकर ओडिशा को समृद्ध बनाएंगे। 

शाह ने कहा कि नवीन बाबू की सरकार झोले की सरकार है। मोदी यहां जो 5 किलो चावल प्रति व्यक्ति प्रतिमाह भेजते हैं, नवीन बाबू उस पर अपनी फ़ोटो वाला झोला लगाने का काम करते हैं।

शाह ने कहा कि ओडिशा भारत के सबसे समृद्ध राज्यों में से एक है और विडंबना यह है कि यहीं पर सबसे गरीब लोग भी रहते हैं। नवीन बाबू इस खनिज संपदा से भरपूर उत्कल भूमि को लूटने और नष्ट करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

शाह ने कहा कि यहां महाप्रभु के रत्न भंडार की चाबियां गुम हो गईं, नकली चाबी बनाई गई। रत्न भंडार कितनी बार खुला? यह कोई नहीं बताता। रत्न भंडार की जांच रिपोर्ट को छिपाया गया। मैं आपको कह कर जाता हूं कि भाजपा सरकार बना दें, रत्न भंडार के एक-एक पैसे का हिसाब हम उत्कल प्रदेश की जनता के सामने रखेंगे। 

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

जमीन से जुड़ाव जरूरी जमीन से जुड़ाव जरूरी
कम-से-कम अगले लोकसभा चुनाव तक तो इनकी चर्चा जारी रहेगी
'हिंदी के साथ हमारे स्वाभिमान और राष्ट्रीय एकता का जुड़ाव है'
यूक्रेन को मिलेगी राहत? शांतिवार्ता के लिए पुतिन ने रखीं ये शर्तें
बीएचईएल को थर्मल पावर प्लांट के लिए दो बैक-टू-बैक ऑर्डर मिले
जी-7 शिखर सम्मेलन: मैक्रों समेत इन नेताओं से मिले मोदी, कई मुद्दों पर हुई चर्चा
येडियुरप्पा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट पर बोले कुमारस्वामी- पिछले 4 महीनों में पुलिस विभाग क्या कर रहा था?
ऐसा मैसेज आए तो रहें सावधान, यहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर और उसके परिवार ने गंवा दिए 5.14 करोड़ रु.