पीओके में उग्र हुए आंदोलनकारी, एक पुलिसकर्मी की मौत, 100 से ज्यादा लोग घायल

इन दिनों पीओके के निवासियों में बहुत आक्रोश है

पीओके में उग्र हुए आंदोलनकारी, एक पुलिसकर्मी की मौत, 100 से ज्यादा लोग घायल

Photo: Google Map

इस्लामाबाद/दक्षिण भारत। पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में गेहूं के आटे और बिजली की ऊंची कीमतों के खिलाफ आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों की सुरक्षा बलों के साथ हिंसक झड़पों में कम से कम एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई। वहीं, 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए। इनमें बड़ी तादाद में पुलिसकर्मी बताए जा रहे हैं।

डॉन की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस क्षेत्र में शनिवार को पुलिस और आंदोलनकर्ताओं के बीच झड़पें हुईं। पूरे इलाके में चक्का जाम और शटर डाउन हड़ताल की गई है।

मीरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) कामरान अली ने दाऊ को बताया कि सब-इंस्पेक्टर अदनान कुरैशी ने इस्लामगढ़ शहर में गोली लगने से दम तोड़ दिया। वह कोटली और मुजफ्फराबाद के रास्ते मुजफ्फराबाद के लिए एक रैली को रोकने के लिए अन्य पुलिसकर्मियों के साथ तैनात था। 

बता दें कि बुधवार-गुरुवार रात, मुजफ्फराबाद और मीरपुर डिवीजनों में छापेमारी के दौरान पुलिस ने लगभग 70 जेएएसी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया था, जिससे गुरुवार को दादियाल में गंभीर झड़पें हुईं।

इसके बाद समिति ने शटर-डाउन और पहिया-जाम हड़ताल की घोषणा की थी। शुक्रवार को भी हड़ताल के बीच मुजफ्फराबाद के अलग-अलग इलाकों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच तीखी झड़प देखने को मिली थीं।

अधिकारियों ने लोगों को शहर की ओर जाने से रोकने के लिए, अधिक गिरफ्तारियां करने के अलावा, मुजफ्फराबाद की ओर जाने वाले रास्तों पर अवरोधक लगा दिए हैं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया
Photo: DrGParameshwara FB page
तृणकां-कांग्रेस मिलकर घुसपैठियों के कब्जे को कानूनी बनाना चाहती हैं: मोदी
अहमदाबाद: आईएसआईएस के 4 'आतंकवादियों' की गिरफ्तारी के बारे में गुजरात डीजीपी ने दी यह जानकारी
5 महीने चलीं उन फांसियों का रईसी से भी था गहरा संबंध! इजराइली मीडिया ने ​फिर किया जिक्र
ईरानी राष्ट्रपति का निधन, अब कौन संभालेगा मुल्क की बागडोर, कितने दिनों में होगा चुनाव?
बेंगलूरु में रेव पार्टी: केंद्रीय अपराध शाखा ने छापेमारी की तो मिलीं ये चीजें!
ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी