आरबीआई ने रेपो रेट 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखी

मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने रेपो दर को अपरिवर्तित रखने का फैसला किया

आरबीआई ने रेपो रेट 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखी

Photo: @reservebankofindia593 YouTube Channel

मुंबई/दक्षिण भारत। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को लगातार सातवीं बार नीतिगत दर को अपरिवर्तित रखने का फैसला किया और कहा कि वह खाद्य मुद्रास्फीति के बढ़ते जोखिमों के प्रति सतर्क है।

मई 2022 के बाद से 250 आधार अंकों तक लगातार छह दरों में बढ़ोतरी के बाद पिछले साल अप्रैल में दर वृद्धि चक्र रोक दिया गया था।

चालू वित्त वर्ष के लिए पहली द्विमासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने रेपो दर को 6.5 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि एमपीसी खाद्य मुद्रास्फीति पर नजर रखेगी।

छह सदस्यीय दर-निर्धारण पैनल ने 5:1 के बहुमत से ब्याज दर पर यथास्थिति का समर्थन किया, जबकि समायोजनात्मक रुख को वापस लेने पर ध्यान केंद्रित रखा।

फरवरी में उपभोक्ता मूल्य आधारित मुद्रास्फीति (सीपीआई) 5.1 फीसद थी। सरकार ने आरबीआई को सीपीआई मुद्रास्फीति को दोनों तरफ 2 प्रतिशत के मार्जिन के साथ 4 प्रतिशत पर सुनिश्चित करने का आदेश दिया है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस