बिल गेट्स के साथ बातचीत में मोदी ने किन ​बातों पर दिया जोर?

गेट्स ने भारत द्वारा प्रौद्योगिकी को अपनाने की प्रशंसा की और कहा कि भारत इस दिशा में आगे बढ़ रहा है

बिल गेट्स के साथ बातचीत में मोदी ने किन ​बातों पर दिया जोर?

Photo: @NarendraModi YouTube channel

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कृषि, शिक्षा और स्वास्थ्य को ऐसे तीन क्षेत्र बताया, जहां वे प्रौद्योगिकी के उपयोग को लेकर सबसे अधिक उत्साहित हैं। उन्होंने इन क्षेत्रों में अपनी सरकार के प्रयासों पर प्रकाश डाला।

प्रौद्योगिकी, विभिन्न क्षेत्रों में इसके उपयोग और जलवायु परिवर्तन सहित कई मुद्दों पर माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स के साथ बातचीत में मोदी ने कहा कि वे दुनिया में डिजिटल विभाजन के बारे में सुनते थे और उन्होंने फैसला किया था कि वे भारत में ऐसा होने की अनुमति नहीं देंगे। 

उन्होंने यह भी कहा कि वे न्यूनतम लागत पर टीके विकसित करने के लिए सर्वाइकल कैंसर में स्थानीय अनुसंधान के लिए वैज्ञानिकों को धन आवंटित करना चाहते हैं और उनकी नई सरकार इस गंभीर बीमारी के खिलाफ विशेष रूप से सभी लड़कियों के लिए टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए काम करेगी।

मोदी ने बार-बार विश्वास जताया कि सत्तारूढ़ भाजपा को आम चुनावों में बड़ा बहुमत मिलेगा और वे लगातार तीसरी बार सत्ता में लौटेंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि डिजिटल सार्वजनिक बुनियादी ढांचे की आवश्यकता है। गेट्स ने भारत द्वारा प्रौद्योगिकी को अपनाने की प्रशंसा की और कहा कि भारत इस दिशा में आगे बढ़ रहा है।

मोदी ने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) जैसी शक्तिशाली तकनीक के दुरुपयोग का एक बड़ा जोखिम है, खासकर जब इसे अकुशल हाथों में दिया जाता है, और सुझाव दिया कि गलत सूचना को रोकने के लिए एआई-जनित सामग्री पर स्पष्ट वॉटरमार्क होना चाहिए।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

ममता सरकार को बड़ा झटका, एसएलएसटी की चयन प्रक्रिया को उच्च न्यायालय ने अमान्य घोषित किया ममता सरकार को बड़ा झटका, एसएलएसटी की चयन प्रक्रिया को उच्च न्यायालय ने अमान्य घोषित किया
कोलकाता/दक्षिण भारत। कलकत्ता उच्च न्यायालय ने सोमवार को पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा प्रायोजित और सहायता प्राप्त स्कूलों में राज्य स्तरीय...
गाजीपुर लैंडफिल में आग 'आप' के 'भ्रष्टाचार' का उदाहरण: दिल्ली भाजपा अध्यक्ष
केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे क्या अपनी सीट आसानी से निकाल लेंगी?
यह उदासीनता क्यों?
हुब्बली में नड्डा की हुंकार- खोखले नारों का सहारा नहीं लेते, मोदी की गारंटी पर है लोगों का विश्वास
हुब्बली: नेहा की हत्या के विरोध में मुस्लिम संगठनों ने किया बंद का आह्वान
कर्नाटक: सोमनायक्कनपट्टी-बेंगलूरु सेक्शन का रियर विंडो निरीक्षण किया