भितरघाती तकनीक और सुरक्षा

भितरघाती तकनीक और सुरक्षा

आधुनिक मोबाइल ऐप आपके काम के हैं तो राष्ट्रीय सुरक्षा पर खतरा भी हैं। जो ऐप्स आपको यात्रा के दौरान अपना सही गंतव्य ढूंढकर वहां तक पहुंचने में आपकी मदद करते हैं, संभव है कि वही ऐप्स आतंकी संगठनों की भी मदद कर दें। कहा जा सकता है कि यह संभव ही नहीं है, आज यह संभावना सच भी साबित हो रही है। हाल में अमेरिकी सुरक्षा विश्लेषकों ने एक एक्सरसाइज ऐप की पहचान की है, जिसका इस्तेमाल सुरक्षा बलों के लिए खतरनाक है। इस प्रकार के कई ऐप्स पूरी दुनिया में मोबाइल धारकों के डिवाइसेज पर डाउनलोड किए गए हैं। कुछ ऐप्स को इसलिए डाउनलोड किया गया है क्योंकि अधिकांश लोग इनमें प्रयोग किए गए खतरनाक सॉफ्टवेयर से अनभिज्ञ हैं। ऐसे ही एक ऐप का पता अमेरिकी रक्षा विशेषज्ञों ने लगाया है। इनके मुताबिक, जिस ऐप का इस्तेमाल दौ़ड भाग करने के लिए और फिट रहने के लिए सुरक्षा बलों के जवानों द्वारा किया जाता है वह सुरक्षित नहीं है क्योंकि इस ऐप पर दिखाया जाने वाला मार्ग अमेरिकी सुरक्षा बलों की जानकारी को जाहिर कर सकता है जिससे इराक और सीरिया में तैनात सुरक्षा अधिकारियों व जवानों की जान को अपराधी प्रवृत्ति वाले आतंकी तत्वों से गंभीर खतरा पैदा हो सकता है। सुरक्षा विश्लेषक यह भी कहते हैं कि बेस कैंपों की बहुत सी जानकारी आतंकी संगठनों के पास पहले से ही है, लेकिन ऐप पर दिखाए जाने वाले मैप ये बताते हैं कि बेस कैंप से निकलने के लिए जवान कौन से रास्ते का इस्तेमाल करते हैं! इस वजह से संभव है कि आंतकी इन रास्तों का इस्तेमाल बम धमाके या किसी गुप्त हमले के लिए कर सकते हैं।दरअसल ’’स्ट्रावा’’ ऐप की ओर से बनाए गए मैप यूजर्स के मूवमेंट को दिखाते हैं। यूजर्स द्वारा अपनाए गए किसी मार्ग पर वह अमूमन कितना सक्रिय रहता है यह भी इस ऐप के जरिए पता चल जाता है। इस ऐप पर कुछ देशों का ब़डा हिस्सा भी आराम से देखा जा सकता है। मसलन, इसमें इराक के मैप का अधिकतर हिस्सा बेहद ही गहरे रंग का नजर आता है जो बताता है कि इस ऐप का इस्तेमाल इराक में कम होता है। लेकिन इराक में ही स्थित अमेरिका और इसके साथियों के मिलिट्री बेस कैंप इस पर साफ नजर आते हैं्। पश्चिमी इराक में अमेरिकी सेना के छोटे कैंपों के बारे में इससे पता चल जाता है। अफगानिस्तान के भी कुछ इलाकों में अमेरिकी बेस कैंपों का पता इस ऐप के जरिए चल सकता है। यह सीरिया और इराक में फ्रांसिसी बेस कैंपों को भी दिखाता है। इन संवेदनशील देशों में सैनिक खुद को स्वस्थ रखने के प्रयास में संवेदनशील जानकारी जाहिर कर रहे हैं। दरअसल यह नई जानकारी भारतीय सुरक्षा विशेषज्ञों के लिए भी बेहद जरूरी है। चूंकि पाकिस्तान और चीन की दोस्ती जग जाहिर है, इसलिए पाकिस्तान को भारतीय सैन्य ठिकानों का पता लगाने में ऐसे ही ऐप से जानकारी हासिल करने में चीन की मदद मिल सकती है।

Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement