हर दिन की बारिश बन रही मुसीबत

हर दिन की बारिश बन रही मुसीबत

बेंगलूरु। आईटी सिटी बेंगलूरु मंे भारी बारिश का सिलसिला लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी जारी रहा और बारिश के कारण कई इलाकों में जल जमाव की स्थिति पैदा हो गई है। इसकी वजह से यातायात प्रभावित हुआ और लोगों को परेशानी का सामना करना प़डा। अच्छी बारिश की बाट जोहते बेंगलूरुवासियों के लिए यूं तो यह बारिश राहत देने वाली है लेकिन जलनिकासी की अव्यवस्था और अधिकांश स़डकों की दयनीय हालत के कारण लोगों के लिए बारिश आफत बनने लगी है। बीते दो दिनों के दौरान शहर के कई इलाकों में जल भराव के कारण लोग जगह जगह जाम में फंसे रहे वहीं कुछ स्थानों पर वाहनों के खराब होने से लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना प़डा। छोटे-मोटे दुकानदारों का व्यापार भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार से शुक्रवार सुबह ८.३० बजे तक चौबीस घंटों के दौरान ७६.६ मिमी बारिश हुई। विशेषकर शहर के निचले इलाकों में लोगों को खासी परेशानियां झेलनी प़ड रही है। दर्जनों घरों में हर दिन बरसात का पानी घुस जा रहा है और बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के बरसात संबंधी सभी दावे पानी में बह गए हैं। बीबीएमपी ने खुद माना है कि शहर की स़डकों पर करीब १६००० गड्ढे हैं और लगातार हो रही बारिश के कारण गड्ढे न सिर्फ ट्रैफिक पर ब्रेक लगाने का काम कर रहे हैं बल्कि लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं। स़डकों के गड्ढों और जलजमाव से हो रही परेशानी को लोग बेंगलूरुवासियों का गुस्सा सोशल मीडिया पर भी दिख रहा है। वे लगातार बीबीएमपी और सरकार की आलोचना कर रहे हैं। शुक्रवार को शाम में बारिश होने के कारण लोगांे को अपने कार्यस्थल से घर लौटने में खासी परेशानी झेलनी प़डी। शहर की सभी प्रमुख स़डकों पर देर शाम तक ट्रैफिक जाम देखा गया। वहीं बारिश के दौरान ब़डी संख्या में लोग आवागमन के लिए मेट्रो का उपयोग करते देखे गए।कर्नाटक राज्य आपदा निगरानी प्राधिकरण (केएसडीएमए) के अनुसार बेंगलूरु में पिछले दो महीनों के दौरान रिकॉर्ड बारिश हुई है और अक्टूबर में भी यह सिलसिला फिलहाल बरकरार है। अगस्त में सामान्य १२० मिमी बारिश की तुलना में २०५ मिमी बारिश हुई जो ७२ प्रतिशत ज्यादा थी जबकि सितम्बर मंे सामान्य १७४ मिमी की तुलना में ३८३ मिमी बारिश हुई जो १२० प्रतिशत ज्यादा रही। वहीं अक्टूबर में शुरुआत पांच दिनों में सामान्य ३९ मिमी बारिश की तुलना में ५४ मिमी बारिश हुई है जो ३८ प्रतिशत ज्यादा है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा