डेंगू नियंत्रण अभियान के तहत 20 हजार लोगों को नोटिस जारी

डेंगू नियंत्रण अभियान के तहत 20 हजार लोगों को नोटिस जारी

चेन्नई। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने राज्य में डेंगू नियंत्रण के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत अभी तक २०,००० लोगों को नोटिस जारी किया है। जिन २० हजार लोगों को नोटिस जारी किया गया है उनमें से २,५०० दुकानें हैं। अपने नोटिस में स्वास्थ्य विभाग ने नोटिस प्राप्तकर्ताओं से पूछा है कि उनके खिलाफ डेंगू एवं अन्य संक्रामक रोगों के कारण बनने वाले मच्छरों के प्रजनन को बढावा देने वाली गतिविधियों में शामिल होने के कारण धारा १३४(१) के तहत कार्रवाई क्यों न की जाए? विभाग ने सभी नोटिस प्राप्त करने वालों कोे दो दिन के अंदर अपना लिखित जवाब सौंपने के लिए कहा है। इस नोटिस में दुकानों और अन्य नागरिकों को ऐसे टैंकों को खाली करने का निर्देश दिया है जिनमें मच्छरों के लार्वा पनपने की संभावना है।नोटिस प्राप्त करने वालों के अनुसार नोटिस में उन्हें अपने टैंकों की ब्लीचिंग पाउडर से सफाई करने और प्लास्टिक के अपशिष्ट पदार्थों को तत्काल हटाने का निर्देश दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने इसके दिशा निर्देशों का पालन नहीं करने वाले नागरिकों को आगाह किया है कि यदि वह विभाग के दिशा निर्देशों का पालन नहीं करते हैं तो उन्हें छह महीने की कैद हो सकती है और एक लाख रुपए का जुर्माना भरना प़ड सकता है। स्वास्थ्य मंत्री सी विजयभाष्कर ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा है कि राज्य में डेंगू के खिलाफ ल़डाई युद्ध स्तर पर ल़डी जा रही है और लोगों से अनुरोध किया गया है कि वह इस बीमारी को समाप्त करने में सरकार का साथ दें।राज्य के स्वास्थ्य सचिव डॉ जे राधाकृष्णन ने मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से पहले ही नागरिकों को आगाह किया गया था कि वह अपशिष्ट पदार्थों को सही ढंग से निस्तारित करें। विभाग की ओर से राज्य भर में स्वास्थ्य अधिकारियों और स्थानीय निकाय के अधिकारियों की सदस्यता वाली टीमें अपने अधिकार क्षेत्रों का दौरा कर यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि लोगों द्वारा स्वास्थ्य विभाग के दिशा निर्देशों का पालन कर रहे हैं या नहीं। इस दौरान दौरा करने वाली टीमों ने पाया कि राज्य में २० हजार लोगों द्वारा दिशा निर्र्देशों का पालन नहीं किया रहा था और इन लोगों को विभाग की ओर से नोटिस जारी किया गया है।उन्होंने बताया कि डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में दौरा करने के लिए राज्य भर में ४० हजार अधिकारियों को नियुक्त किया गया है। यह अधिकारी घर- घर जाकर डेंगू को नियंत्रित करने के लिए नागरिकों को जागरुक कर रहे हैं। इन अधिकारियों को विवाह भवनों, थियेटरों,डीपो और खाली भूखंडों का दौरा कर डेंगू संवेदनशील स्थानों को चिन्हित करने का निर्देश दिया गया है। राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में डेंगू पीि़डत रोगियों के इलाज के लिए चौबीसों घंटे और सातों दिन खुले रहने वाले वार्ड बनाए गए हैं। स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि सरकार की ओर से डेंगू नियंत्रण के लिए पहले ही १६.२० करो़ड रुपए की राशि जारी की जा चुकी है और आवश्यकता प़डने पर और अधिक राशि जारी की जाएगी।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला
भुवनेश्वर/दक्षिण भारत। माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स को उनके उल्लेखनीय एवं परोपकारी...
केरल में इतनी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी कांग्रेस!
हिप्र: 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' से शिमला लौटे, 15 भाजपा विधायक निलंबित
पाक समर्थक नारे का आरोप: सिद्दरामैया ने कहा- सच पाए जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई
राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' पर गए!
प्रधानमंत्री ने नई परियोजनाओं का उद्घाटन किया, तमिलनाडु में नए इसरो लॉन्च कॉम्प्लेक्स की आधारशिला रखी
समुद्र: रहस्य की अद्भुत दुनिया