अभिनेता बनना नहीं चाहते थे प्रभास

अभिनेता बनना नहीं चाहते थे प्रभास

हैदराबाद। दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार प्रभास का कहना है कि वह अभिनेता नहीं बनना चाहते थे। बाहुबली और बाहुबली-२ जैसी फिल्मों की कामयाबी के बाद प्रभास वैश्विक स्तर पर लोकप्रिय हो चुके हैं। उनके पिता लोकप्रिय फिल्म निर्माता अप्पलपति सूर्य नारायण राजू और उनके चाचा कृष्णम राजू अप्पलपति ने तेलुगू सिनेमा में अपना नाम कमाया है। प्रभास ने बताया कि परिजनों द्वारा इसी क्षेत्र में करियर बनाने के सुझाव से इंकार कर दिया था, लेकिन बाद में अचानक उनका मन बदल गया। प्रभास ने वर्ष २००२ में प्रदर्शित तेलुगू फिल्म ’’ईश्वर’’ के साथ फिल्म जगत में कदम रखा था। प्रभास ने बताया, मेरे चाचा अभिनेता हैं। मेरे डैड निर्माता हैं। इसी नाते उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मुझे दिलचस्पी है? लेकिन मैंने कहा कि कोई कैसे इतने सारे लोगों के सामने अभिनय कर सकता है। मैं शर्मिला हूं। मेरे माता-पिता ने दो-तीन बार पूछा, लेकिन मैंने ना कह दिया। मैंने सोचा था कि मैं कोई कारोबार करूंगा, क्योंकि मैं आलसी हूं, नौकरी नहीं कर सकता था। मैंने सोचा था कि शायद होटल कारोबार में जाऊंगा, क्योंकि हमारे परिवार को खाना पसंद है और हैदराबाद में उत्तर भारतीय व्यंजन काफी लोकप्रिय हैं। मुझे पता नहीं क्या हुआ। एक दिन मैं बापू द्वारा निर्देशित चाचा जी की फिल्म देख रहा था। मैं कल्पना करने लगा कि मैं चाचा जी की भूमिका में हूं।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List