रोजाना मूल्य बदले जाने के विरोध में बंद रहे 300 से अधिक पेट्रोल पम्प

रोजाना मूल्य बदले जाने के विरोध में बंद रहे 300 से अधिक पेट्रोल पम्प

मैसूरु। मैसूरु, मंड्या और चामराजनगर में ३०० से अधिक पेट्रोल पम्प शुक्रवार को रोजाना मूल्य बदले जाने के विरोध में बंद रहे, जो नियम आज से लागू हो गया है। नतीजतन, पेट्रोल और डीजल की बिक्री प्रभावित हुई जबकि डीलरों ने तेल कंपनियों से खरीद को निलंबित कर दिया है। फेडरेशन ऑफ मैसूरु पेट्रोलियम ट्रेडर्स (एफएमपीटी) ने राज्य के ज्यादातर हिस्सों में ह़डताल का आह्वान किया था। एफएमपीटी के अध्यक्ष दिनेश ने कहा कि वे इस मुद्दे को लेकर ह़डताल कर रह रहे हैं क्योंकि मूल्यों में बदलाव डीलरों के दृष्टिकोण से व्यावहारिक नहीं है। मूल्य में उतार-च़ढाव की निगरानी के संबंध में हमारे पास कई समस्याएं हैं। हमें सलाह दी गई है कि डीलरों को एसएमएस के जरिए रोजाना बताया जाएगा। हालांकि यह शहरी क्षेत्रों में काम कर सकता है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में स्थित व्यापारियों को नेटवर्क के मुद्दों के कारण आवश्यक बदलाव करने में परेशानी होगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में स्थित आउटलेट वाले अधिकांश व्यापारियों को मैसूर में रहना प़डता है और कर्मचारियों को आवश्यक रूप से सही बदलाव करने के लिए भरोसा नहीं किया जा सकता। आधी रात से हुआ बंद २४ घंटे तक चलेगा। मैसूरु, मंड्या और चामराजनगर जिलों में २५० आउटलेट हैं, जबकि अकेले मैसूरू शहर में लगभग ८० आउटलेट हैं जिनके द्वारा लगभग १.६ लाख से २ लाख लीटर पेट्रोल दैनिक रूप से बेचा जाता है और लगभग ६ लाख से ७ लाख लीटर डीजल बेचा जाता है। हालांकि, अधिकांश वाहन चालकों ने ह़डताल से पहले के दिन ही पर्याप्त ईंधन भर लिया था और इसलिए सामान्य जीवन प्रभावित नहीं हुआ है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List