युवाओं से बोले मोदी- ऐसा काम कीजिए कि अगली शताब्दी में पीढ़ी आपको याद करे

प्रधानमंत्री ने कहा कि समय हर किसी को अपने जीवनकाल में एक सुनहरा मौका जरूर देता है

युवाओं से बोले मोदी- ऐसा काम कीजिए कि अगली शताब्दी में पीढ़ी आपको याद करे

प्रधानमंत्री ने कहा कि 22 जनवरी तक देश के तीर्थ स्थानों की, मंदिरों की साफ-सफाई करें

नासिक/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के नासिक में राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि आज का यह दिन भारत की युवाशक्ति का दिन है। यह दिन उस महापुरुष को समर्पित है, जिसने गुलामी के कालखंड में भारत को नई ऊर्जा से भर दिया था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि स्वामी विवेकानंद की जयंती पर, मैं आप सब नौजवानों के बीच नासिक में हूं। मैं आप सभी को 'राष्ट्रीय युवा दिवस' की शुभकामनाएं देता हूं। यह महज संयोग नहीं है, बल्कि महाराष्ट्र की इस पवित्र, वीर, आध्यात्मिक और भक्ति भूमि का महान प्रभाव है कि भारत की महान विभूतियां यहां से निकली हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने आह्वान किया था कि 22 जनवरी तक हम सभी देश के तीर्थ स्थानों की, मंदिरों की साफ-सफाई करें, स्वच्छता का अभियान चलाएं। आज मुझे कालाराम मंदिर में दर्शन करने का और मंदिर परिसर में सफाई करने का सौभाग्य मिला है। मैं देशवासियों से अपना आग्रह फिर दोहराऊंगा कि राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के पावन अवसर के निमित्त देश के सभी मंदिरों, तीर्थ क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाएं, अपना श्रमदान करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश के ऋषियों-मुनियों-संतों से लेकर सामान्य मानव तक, सभी ने हमेशा युवाशक्ति को सर्वोपरि रखा है। श्री अरबिंदो कहते थे कि अगर भारत को अपने लक्ष्य पूरे करने हैं तो भारत के युवाओं को एक स्वतंत्र सोच के साथ आगे बढ़ना होगा।

स्वामी विवेकानंदजी भी कहते थे कि भारत की उम्मीदें भारत के युवाओं के चरित्र और उनकी प्रतिबद्धता पर टिकी है। श्री अरबिंदो और स्वामी विवेकानंद का यह मार्गदर्शन आज 2024 में भारत के युवा के लिए बहुत बड़ी प्रेरणा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि समय हर किसी को अपने जीवनकाल में एक सुनहरा मौका जरूर देता है। भारत के युवाओं के लिए वह सुनहरा मौका अभी है, अमृतकाल का यह कालखंड है। आज आपके पास मौका है इतिहास बनाने का, इतिहास में अपना नाम दर्ज कराने का। आप ऐसा काम कीजिए कि अगली शताब्दी में उस वक्त की पीढ़ी आपको याद करे। आप अपने नाम को भारत और पूरी दुनिया के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में लिख सकते हैं। इसलिए मैं आपको 21वीं सदी के भारत की सबसे सौभाग्यशाली पीढ़ी मानता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं जानता हूं कि आप यह कर सकते हैं। भारत के युवा ये लक्ष्य हासिल कर सकते हैं। मेरा सबसे ज्यादा भरोसा आप सभी पर, भारत के युवाओं पर है। आज, भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में चमक रहा है, और इस सफलता के पीछे हमारे युवाओं की शक्ति है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 'मेरा युवा भारत संगठन' से जिस तेजी के साथ देश के कोने-कोने में युवा जुड़ रहे हैं, उससे भी मैं बहुत उत्साहित हूं। संगठन की स्थापना के बाद यह पहला युवा दिवस है। अभी इस संगठन को बने 75 दिन भी पूरे नहीं हुए हैं और 1.10 करोड़ के आसपास युवा इसमें अपना नाम रजिस्टर करा चुके हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे विश्वास है कि आपकी सामर्थ्य, आपका सेवाभाव देश और समाज को नई ऊंचाई पर ले जाएगा। आपका प्रयास, आपका परिश्रम युवा भारत की शक्ति का परचम पूरी दुनिया में लहराएगा।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'हाई लाइफ ज्वेल्स' में फैशन के साथ नजर आएगी आभूषणों की अनूठी चमक 'हाई लाइफ ज्वेल्स' में फैशन के साथ नजर आएगी आभूषणों की अनूठी चमक
हाई लाइफ ज्वेल्स 100 से ज्यादा प्रीमियम आभूषण ब्रांड्स को एक छत के नीचे लाता है
एआरई एंड एम ने आईआईटी, तिरुपति में डॉ. आरएन गल्ला चेयर प्रोफेसरशिप की स्थापना के लिए एमओए किया
बजट में किफायती आवास को प्राथमिकता देने के लिए सरकार का दृष्टिकोण प्रशंसनीय: बिजय अग्रवाल
काठमांडू हवाईअड्डे पर उड़ान भरते समय विमान दुर्घटनाग्रस्त, 18 लोगों की मौत
बजट में मध्यम वर्ग और ग्रामीण आबादी को सशक्त बनाने पर जोर सराहनीय: कुमार राजगोपालन
बजट में कौशल विकास पर दिया गया खास ध्यान: नीरू अग्रवाल
भारत को बुलंदियों पर लेकर जाएगी अंतरिक्ष अर्थव्यवस्था: अनिरुद्ध ए दामानी