रवीना ने ‘पद्मावती’ विवाद को बताया राजनीतिक ड्रामा

रवीना ने ‘पद्मावती’ विवाद को बताया राजनीतिक ड्रामा

मुंबई। डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की फिल्म ’’पद्मावती’’ पर विवाद जारी है। जहां फिल्म इंडस्ट्री के कई लोग इसके सपॉर्ट में हैं, वहीं करणी सेना जैसे संगठन फिल्म का जबरदस्त तरीके से विरोध कर रहे हैं। विरोध करने वालों का कहना है कि फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों से छे़डछा़ड की गई है। इस बीच अब इस मामले पर ऐक्ट्रेस रवीना टंडन ने भी अपनी राय रखी है। एक टीवी चैनल के प्रोग्राम में पहुंचीं रवीना टंडन ने कहा, ’’पद्मावती विवाद राजनीतिक ड्रामा है। समझ नहीं आता है कि हम यथार्थ से क्यों मुंह मो़ड लेते हैं। मुझे लगता है कि इन चीजों का एक दौर होता है। इलेक्शन खत्म होने दीजिए, सब ठीक हो जाएगा।’’ इस दौरान रवीना ने राजा और महाराजाओं पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, ’’पद्मावती में जौहर को महिमामंडित नहीं किया गया है। उस जमाने में क्या होता था, इसे दिखलाने की कोशिश की गई है। हमारे राजा-महाराजा भी कोई दूध के धुले नहीं थे। वे कोई गंगा सकन करके नहीं आते थे।’’ रवीना ने आगे कहा, ’’जब कोई आपदा या परेशानी आती है तो फिल्म इंडस्ट्री एक साथ होती है। पद्मावती पर भी हम एकजुट हैं। फिल्मकारों के खिलाफ माहौल नया नहीं है। इसके पहले मजरूह सुल्तानपुरी को १ साल ६ महीने की जेल हुई थी जब उन्होंने एक कविता लिखी थी। किशोर कुमार को भी गाने और शो करने से बैन कर दिया गया था।’’ रवीना टंडन कहती हैं, ’’एक फिल्म के विरोध में कोई कानून और संविधान से परे जाकर जान लेने की धमकियां कैसे दे रहा है? ऐसे लोग अरेस्ट क्यों नहीं हो रहे हैं? आपको विरोध करने का अधिकार है लेकिन इस तरह की हिंसा का नहीं।’’

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List