अब भी सतर्कता जरूरी

अब भी सतर्कता जरूरी

भले ही इराक ने पूरी दुनिया को अपनी आतंकी गतिविधियों से दहशत में डालने वाले कुख्यात आईएसआईएस का अपनी जमीन से पूरी तरह खात्मा कर दिए जाने का ऐलान कर दिया है लेकिन इसके बावजूद दुनिया को और खासकर इराक के प़डोसी देशों को इत्मीनान से नहीं बैठ जाना चाहिए्। दरअसल, आईएस के लिए काम करने वाले आतंकी गुर्गे कई देशों में पाए और पक़डे गए हैं, इसलिए यह जरूरी है कि उनके फिर से इकट्ठा या संगठित होने की संभावनाओं को समूल खत्म करने के लिए प्रयासों को ठंडा न प़डने दिया जाए्। यह कई बार देखा जा चुका है कि जब कोई आतंकी गिरोह चौतरफा दबाव के कारण बिखरता है तो उससे जु़डे दहशतगर्द दूसरे गिरोहों से जु़डकर अपनी घिनौनी आपराधिक हरकतों को अंजाम देने लगते हैं या फिर मौके की तलाश में कुछ अरसे शांत बैठने के बाद दोबारा खुद को संगठित कर लेते हैं्। कई आतंकी गुर्गे एक गिरोह खत्म होने पर नए नाम से नया गिरोह शुरू कर देते हैं्। यही ब्रिटेन की भी राय है और उसने सभी देशों से इसके बाबत पूरा एहतियात बरतने को कहा है। अलबत्ता, इराक में आईएस की कमर तो़ड दिए जाने के बाद फिलहाल इराक चैन की सांस ले सकता है लेकिन उसे भी आतंक के झुलसा देने वाले अनुभवों के मद्देनजर सतर्कता तो बरतनी ही होगी ताकि यह देश दोबारा आतंक के जंगली जाल में दोबारा न फंस जाए्। यों, इराकी प्रधानमंत्री ने खुद ही आईएस के खात्मे की घोषणा करते हुए कहा कि उसके खिलाफ तीन वर्षों से जारी जंग इराक की जीत के साथ खत्म हुए जो ऐतिहासिक तथ्य है। प्रधानमंत्री हैदर अल अबादी ने पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि इराक और सीरिया की सीमा पर सुरक्षा बलों का पूर्ण नियंत्रण हो चुका है। हमारे दुश्मन हमारी सभ्यता को खत्म करना चाहते थे इसलिए हमने अपनी एकजुटता और प्रतिबद्धता के जरिए दुश्मन पर जीत हासिल की है। गौरतलब है कि आईएस ने वर्ष २०१४ में बगदाद के उत्तर और पश्चिम में अधिकांश इलाकों पर कब्जा कर लिया था। इराक से पूर्व ईरान ने पिछले ही महीने आईएस के सफाये का ऐलान कर दिया था। अब बहुत ही छोटे इलाके में इसका कब्जा बना हुआ है। वैसे आम इराकियों को भी इस बात का यकीन है कि इस वर्ष ११ जून को ही आईएस का सरगना आतंकी बगदादी मारा जा चुका था।

Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

गुजरात और हिप्र के एग्जिट पोल: भाजपा की सत्ता जारी या कांग्रेस की बारी? गुजरात और हिप्र के एग्जिट पोल: भाजपा की सत्ता जारी या कांग्रेस की बारी?
दिल्ली नगर निगम चुनाव के एग्जिट पोल भी जानिए
बोम्मई ने 'सीएफआई समर्थक' भित्तिचित्रों के जिम्मेदारों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिया
आर्थिक अपराधों को रोकने वाली प्रौद्योगिकी अपनाने में आगे रहे डीआरआई: मोदी
बोम्मई ने सीमा विवाद के बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से मंत्रियों को बेलगावी नहीं भेजने के लिए कहा
गुजरात विधानसभा चुनाव: दूसरे चरण में 11 बजे तक 19.17 प्रतिशत मतदान
इज़राइल की खुफिया एजेंसी के लिए काम करने वाले 4 लोगों को ईरान ने फांसी दी
गुजरात विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में अब तक कितना मतदान हुआ?