राजकोट अग्निकांड: गेम जोन का एक और साझेदार गिरफ्तार, अब तक इतने लोग पकड़े गए

टीआरपी गेम जोन अग्निकांड ने देश को झकझोर दिया

राजकोट अग्निकांड: गेम जोन का एक और साझेदार गिरफ्तार, अब तक इतने लोग पकड़े गए

Photo: rajkotcitypoliceofficial FB page

अहमदाबाद/दक्षिण भारत। गुजरात पुलिस ने राजकोट स्थित टीआरपी गेम जोन, जहां पिछले सप्ताह भीषण आग में 27 लोगों की मौत हो गई थी, के एक और साझेदार को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, बनासकांठा के पुलिस अधीक्षक अक्षयराज मकवाना ने कहा कि रेसवे एंटरप्राइजेज के पांच साझेदारों के साथ टीआरपी गेम जोन चलाने वाले धवल कॉरपोरेशन के मालिक धवल ठक्कर को पड़ोसी राज्य राजस्थान के आबू रोड से गिरफ्तार किया गया।

इसके साथ ही शनिवार को गेम जोन में आग लगने की घटना के सिलसिले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

मकवाना ने बताया कि राजकोट और बनासकांठा पुलिस द्वारा चलाए गए संयुक्त अभियान में ठक्कर को आबू रोड से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने पहले रेसवे एंटरप्राइजेज के पार्टनर युवराजसिंह सोलंकी और राहुल राठौड़ तथा गेम जोन मैनेजर नितिन जैन को गिरफ्तार किया था।

उन्हें सोमवार को राजकोट की एक अदालत ने 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

पुलिस ने आग लगने की घटना के संबंध में छह लोगों - ठक्कर, सोलंकी, राठौड़ और रेसवे एंटरप्राइजेज के साझेदार अशोकसिंह जाडेजा, किरीटसिंह जाडेजा और प्रकाशचंद हिरन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

राज्य सरकार ने घटना की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है और हर मृतक के परिजन को 4 लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

केंद्र सरकार ने हर मृतक के निकटतम परिजन को 2 लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की भी घोषणा की है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List