कर्नाटक लोकायुक्त पुलिस ने सरकारी अधिकारियों के घरों पर मारे छापे

राज्यभर में 62 स्थानों पर तलाशी ली गई

कर्नाटक लोकायुक्त पुलिस ने सरकारी अधिकारियों के घरों पर मारे छापे

पूरी जानकारी तलाशी के दौरान निकले सभी दस्तावेजों के सत्यापन के बाद ही मिल सकेगी

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कर्नाटक लोकायुक्त कार्यालय के अधिकारियों ने बुधवार को पूरे राज्य में कई सरकारी अधिकारियों के आवास और दफ्तरों पर एकसाथ छापेमारी की। यह छापेमारी बेंगलूरु, रामनगर, बागलकोट, बेलगावी, तुमकूरु, कलबुर्गी, यादगीर, कोलार और अन्य स्थानों पर की गई। सूत्रों ने बताया कि लोकायुक्त कार्यालय के अधिकारियों ने सुबह-सुबह राज्‍य के इन सरकारी अधिकारियों के आवासों के दरवाजे खटखटाए और तलाशी शुरू की।

जानकारी के अनुसार, राज्यभर में 62 स्थानों पर तलाशी ली गई। संबंधित अधिकारियों का विवरण और तलाशी के परिणाम के संबंध में प्रारंभिक जानकारी भी साझा की गई है। हालांकि पूरी जानकारी तलाशी के दौरान निकले सभी दस्तावेजों के सत्यापन के बाद ही मिल सकेगी।

ये हैं अधिकारी

केआर पुरम में बेंगलूरु पूर्वी तालुक के तहसीलदार (ग्रेड-2) एस अजित कुमार राय के 11 ठिकानों की तलाशी ली गई, जिससे 40 लाख रुपए नकद सहित लगभग 1.90 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। बागलकोट में कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक कार्यालय में संयुक्त निदेशक चेतना से जुड़े दो स्थानों पर तलाशी ली गई। इस दौरान 32 लाख रुपए नकद सहित लगभग 1.45 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। बताया गया कि बागलकोट जिले में बिलागी तालुक एडीए कार्यालय में कृषि अधिकारी (तकनीकी-2) कृष्णा रामप्पा शिरूर से संबंधित चार स्थानों पर तलाशी के दौरान लगभग 71.88 लाख रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है।

इसी तरह मुद्देबिहाल में ग्रामीण पेयजल एवं स्वच्छता विभाग में एईई जिनप्पा पद्मन्ना शेट्टी से संबंधित तीन स्थानों पर तलाशी ली गई, जिससे लगभग 1.42 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। बसवना बागेवाड़ी में पीडब्ल्यूडी उप-मंडल एईई कार्यालय के कनिष्ठ अभियंता भीमनगौड़ा से संबंधित दो ठिकानों की तलाशी ली गई। वहां लगभग 1.90 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। कोडागु जिले में ग्रामीण पेयजल और स्वच्छता विभाग के मदिकेरी उप-मंडल में एफडीए पीएम अब्दुल बशीर के तीन ठिकानों की तलाशी ली गई, तो लगभग 1.14 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ। इसमें 14 लाख रुपए नकद शामिल हैं।

सिंधनूर में टाउन एंड कंट्री प्लानिंग सहायक निदेशक कार्यालय में सदस्य सचिव शरणप्पा से संबंधित चार ठिकानों पर तलाशी ली गई। इस दौरान 14 लाख रुपए नकद सहित लगभग 2.03 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। वहीं, तुमकूरु में कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक केएच रवि के छह ठिकानों पर तलाशी में लगभग 4.27 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। पीडब्ल्यूडी में एईई जीएन प्रकाश के दो ठिकानों की तलाशी में लगभग 2.71 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। विजयनगर जिले में ईई (बिजली) शेखर हनुमंत बहुरूपी से संबंधित चार ठिकानों पर तलाशी से लगभग 3 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। गौरीबिदानुर तालुक में आबकारी निरीक्षक वी रमेश के पांच ठिकानों पर तलाशी से लगभग 2.44 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है।

इसी तरह स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग कार्यालय में एईई विश्वनाथ रेड्डी से संबंधित दो ठिकानों की तलाशी में लगभग 1.27 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। सिरा तालुक में  ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज इंजीनियरिंग उप-मंडल एई केबी पुट्टाराजू से संबंधित चार ठिकानों की तलाशी ली गई तो लगभग 1.04 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ।

तुमकूरु जिले में केआरआईडीएल एई, ग्रेड-2 कोडंडारमैया वी से संबंधित छह ठिकानों पर तलाशी ली गई। वहां मिली संपत्तियों की अनुमानित कीमत 2.47 करोड़ रुपए बताई गई है। चिक्कमगलूरु जिले में निर्मिति केंद्र योजना प्रबंधक गंगाधर वाई से संबंधित चार ठिकानों की तलाशी में लगभग 3.75 करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। फिलहाल सभी मामलों की जांच चल रही है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस