‘बाहुबली’ की हीरोइन तमन्ना भाटिया पर जूते से हमला

‘बाहुबली’ की हीरोइन तमन्ना भाटिया पर जूते से हमला

हैदराबाद। एक्ट्रेस तमन्ना भाटिया के साथ हैदराबाद में एक प्रोग्राम में बदसलूकी का मामला सामने आया है। यह घटना रविवार की है, जब एक कार्यक्रम के दौरान अभिनेत्री तमन्ना पर एक व्यक्ति ने कथित तौर पर जूता फेंका। पुलिस के मुताबिक तमन्ना भाटिया पर जूता तब फेंका गया जब वह हैदराबाद के एक ज्वैलेरी स्टोर के उद्घाटन कर रही थीं। तमन्ना पर उछाला गया जूता स्टोर के एक कर्मी को लगा। पुलिस के मुताबिक आरोपी को तुरंत हिरासत में ले लिया गया और पूछताछ में उसने बताया है कि वह अभिनेत्री द्वारा हाल की ि़फल्मों में उनके अभिनय को लेकर निराश था। बता दें कि जिस कर्मी को जूता लगा उसी की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। इससे पहले तमन्ना भाटिया ने इन्स्टाग्राम पर एक तस्वीर शेयर कर हैदराबाद के इस स्टोर के उद्घाटन कार्यक्रम की जानकारी दी थी।हाल में ’’बाहुबली’’ से चर्चा में आईं तमन्ना ने अपना करियर २००५ में महज १५ साल की उम्र में आई हिंदी ि़फल्म ’’चांद सा रौशन चेहरा’’ से शुरू किया। उसी साल उनकी एक और ि़फल्म ’’श्री’’ भी आई जो तेलुगु भाषा में बनी थी। आपने तमन्ना को हिंदी ि़फल्मों हिम्मतवाला (२०१३), हमशक्ल (२०१४), एंटरटेनमेंट (२०१४), में भी देखा है। साल २०१५ में आयी ’’बाहुबली द बिगनिंग’’ ने तो तमन्ना भाटिया के करियर को काफी ऊंचाई दी। गौरतलब है कि स्कूल के बाद तमन्ना एक साल तक पृथ्वी थियेटर से भी जु़डी रही हैं, जहां उन्होंने अभिनय की बारीकियां सीखीं।

Google News
Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने संकल्प लिया था कि सिंदरी के इस खाद कारखाने को जरूर शुरू करवाऊंगा
विधानसभा अध्यक्ष के आदेश के खिलाफ ठाकरे गुट की याचिका पर 7 मार्च को सुनवाई करेगा उच्चतम न्यायालय
बांग्लादेश: ढाका की बहुमंजिला इमारत में आग लगने से 45 लोगों की मौत
हिंसा का चक्र कब तक?
उदित राज ने भाजपा पर दलितों, पिछड़ों, महिलाओं और आदिवासियों की अनदेखी का आरोप लगाया
केंद्रीय कैबिनेट ने 75 हजार करोड़ रुपए की रूफटॉप सोलर योजना को मंजूरी दी
मंदिर संबंधी विधेयक कर्नाटक विधानसभा से फिर पारित हुआ