केन्द्रीय बजट दिशाहीन और अदूरदर्शी : सिद्दरामैया

केन्द्रीय बजट दिशाहीन और अदूरदर्शी : सिद्दरामैया

बेंगलूरु। मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने गुरुवार को केन्द्रीय बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किया गया बजट एक झूठ का पुलिंदा और बेहद निराशाजनक है। संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि जेटली ने एक दिशाहीन और अदूरदर्शी बजट पेश किया है। उन्होंने कहा कि बजट में किसानों के हितों की रक्षा के लिए स्वामीनाथन समिति की रिपोर्ट के कार्यान्वयन के बारे में कोई जिक्र नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों द्वारा वाणिज्यिक और पीएसयू बैंकों से लिए गए छोटे ऋणों की छूट के बारे में एक शब्द नहीं है, जो केंद्र सरकार द्वारा गंभीरता से लेने की उम्मीद की गई थी।देश में २५ सरकारी मेडिकल कॉलेज स्थापित करने की बजट में हुई घोषणा पर सिद्दरामैया ने कहा कि उनकी सरकार ने पहले ही कर्नाटक के प्रत्येक जिले में मेडिकल कॉलेज शुरू करने का फैसला किया है और यदि मोदी सरकार का दावा वास्तव में प्रतिबद्ध है, तो वह कर्नाटक के सभी नए मेडिकल कॉलेजों में आवश्यक बुनियादी ढांचे के विकास के लिए फंड उपलब्ध कराए। सिद्दरामैया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत केन्द्र की एनडीए सरकार ने देश में हर वर्ष दो करो़ड रोजगार सृजन का वादा किया था लेकिन यह बेहद अफसोसजनक स्थिति है कि बजट में उस पर एक शब्द भी नहीं बोला गया। यहां तक कि केन्द्र की इस मोदी सरकार ने अपने पिछले बजट में जो घोषणाएं की थीं उसे क्रियान्वित करने में असफल रहने के बाद भी नई घोषणाएं कर रही है। ्यप्·र्ैंय्फ् ऱ्द्बरुक्व द्धज्ट्ट द्मब्र्‍्र ब्स्उन्होंने कहा कि बजट में आम आदमी की कठिनाइयों को दूर करने के लिए कुछ नहीं किया गया है। नई स्वास्थ्य बीमा योजना को बिना धन आवंटित किए घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि बजट विकास उन्मुख नहीं है और ना ही कृषि विकास दर में तेजी लाने पर इसमें कोई ध्यान रखा गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व के ढर्रे पर चलते हुए इस बार भी मोदी सरकार ने अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर कई झूठे वादे किए हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?