भाजपा की रैली निकालने की कोशिश रही नाकाम

भाजपा की रैली निकालने की कोशिश रही नाकाम

मेंगलूरु। भाजपा युवा मोर्चा (भाजयुमो) द्वारा आयोजित मेंगलूरु चलो बाइक रैली गुरुवार को मेंगलूरु पहुंचने में नाकाम रही क्योंकि पुलिस ने युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को दक्षिणी कन्ऩड में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी। राज्य के विभिन्न हिस्सों से मंेगलूरु के लिए निकलने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं पर कानून और व्यवस्था का हवाला देकर पुलिस ने पहले ही सख्ती दिखाई थी। पुलिस ने गुरुवार को मेंगलूरु के ज्योति सर्किल के पास निषेधाज्ञा लागू होने के बाद भी बाइक रैली निकाल रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सैक़डों नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। येड्डीयुरप्पा ने ज्योति सर्किल में पार्टी कार्यकर्ताओं की सभा में कहा कि राज्य में कानून और व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई है। सिद्दरामैयानीत कांग्रेस सरकार में आए दिन राज्य में हत्याएं हो रही हैं। उन्होंने राज्य सरकार से सवाल किया कि राज्य में कई भाजपा कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं। कांग्रेस सरकार के दौरान और कितने लोग मारे जाएंगे? उन्होंने भाजपा की मंेगलूरु चलो बाइक रैली को प्रतिबंधित करने के निर्णय की आलोचना की और इसे संवैधानित रूप से प्रदत विरोध के अधिकार का हनन बताया। भाजपा नेताओं का यह आंदोलन राज्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) तथा भाजपा कार्यकर्ताओं की हाल के दिनों में हुई हत्याओं के विरोध में तथा पत्रकार गौरी लंकेश की हुई हत्या की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरों (सीबीआई) से कराने की मांग को लेकर था। पुलिस ने भाजपा को नेहरू ग्राउंड में सार्वजनिक सभा करने की इजाजत दी थी लेकिन प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येड्डीयुरप्पा तथा विधानसभा में विपक्ष के नेता जगदीश शेट्टर तथा अन्य नेताओं के संबोधन के बाद बाइक रैली निकालने के लिए ज्योति सर्किल पर इकट्ठा होने की कोशिश की। पुलिस ने बैरिकेडिंट तो़ड कर ज्योति सर्किल की ओर ब़ढ रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को रोका और उन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए कुछ जगहों पर लाठीचार्ज किया और उन्हें बसों में भर कर यहां से दूर लेकर छो़ड दिया। इस दौरान येड्डीयुरप्पा सहित केएस ईश्वरप्पा, जगदीश शेट्टर, आर. अशोक, प्रहलाद जोशी, अरविंद लिम्बावली, शोभा करंदलाजे और नलिन कुमार कटील आदि को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस बीच, पुलिस ने विरोध प्रदर्शन के कारण किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए शहर में व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की थी। इस दौरान मेंगलूरु शहर सहित सीमा क्षेत्र में ब़डी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। हालांकि पुलिस ने भाजपा बाइक रैली आयोजित करने की अनुमति नहीं दी थी लेकिन शहर के नेहरू मैदान में एक सार्वजनिक बैठक आयोजित करने की अनुमति दी थी जो डिप्टी कमिश्नर के कार्यालय के करीब था। बाइक रैली की अनुमति नहीं देने के कारण भाजपा कार्यकर्ता ने सर्कल पर विरोध प्रदर्शन करने का फैसला किया जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें हिरासत में ले लिया।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा विपक्ष पर मोदी का प्रहार- इस बार तो इन्हें जमानत बचाने के लिए ही बहुत संघर्ष करना पड़ेगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि छह दशक के परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टीकरण ने उप्र को विकास में पीछे रखा
प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व ने भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया: नड्डा
अगले पांच वर्षों में देश आत्मविश्वास से विकास को नई रफ्तार देगा, यह मोदी की गारंटी: प्रधानमंत्री
मुख्य चुनाव आयुक्त ने तमिलनाडु में लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा शुरू की
तेलंगाना: बीआरएस विधायक नंदिता की सड़क दुर्घटना में मौत; मुख्यमंत्री, केसीआर ने जताया शोक
अमेरिका की इस निजी कंपनी ने चंद्रमा पर पहला वाणिज्यिक अंतरिक्ष यान उतारकर इतिहास रचा
पश्चिम बंगाल: भाजपा प्रतिनिधिमंडल संदेशखाली का दौरा करेगा