कांग्रेस कर रही है समाज को विभाजित करने की राजनीति : कुमारस्वामी

कांग्रेस कर रही है समाज को विभाजित करने की राजनीति : कुमारस्वामी

मैसूरु। लिंगायतों को अलग धार्मिक मान्यता दिलाने के लिए मंत्रिमंडलीय पैनल बनाने की राज्य सरकार की पहल पर ऐजराज जाहिर करते हुए जनता दल (एस) के राज्य अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री सिद्दरामैया के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार द्वारा उठाया गया यह एक ऐसा कदम है जो लोगों को विभाजित करता है। कांग्रेस सरकार भावनात्मक मुद्दों को राजनीतिक लाभ लेने के मकसद से उठा रही है और लोगों को विभाजित कर रही है। गौरतलब है कि राज्य में लिंगायतों को हिन्दू धर्म से अलग धार्मिक मान्यता दिलाने की संभावनाओं को लेकर राज्य सरकार ने पांच सदस्यीय मंत्रिमंडलीय समिति गठित की है जो आने वाले दिनों में इसकी संभावना को तलाशने के लिए राज्य का दौरा करेगी। हालांकि कुमारस्वामी ने इस पहल को पूरी तरह से राजनीतिक करार देते हुए कहा कि सरकार की मंशा समाज को विभाजित कर राजनीतिक हित साधने की है। कुमारस्वामी ने कहा कि राज्य के संकटग्रस्त किसानों की समस्याओं को सुलझाने और सूखे की स्थिति से निपटने के उपायों पर ध्यान के्द्रिरत करने के बदले कांग्रेस ने धार्मिक आधार पर समाज को विभाजित करने पर ध्यान के्द्रिरत कर रखा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सिद्दरामैया समाज को विभाजित करने की कोशिश में हैं और धार्मिक विसंगतियों के जहरीले बीज बो रहे हैं और यह सब पूरी तरह से विधानसभा चुनावों को लेकर किया जा रहा है क्योंकि राज्य में अब एक वर्ष से भी कम समय में विधानसभा चुनाव होने हैं। उन्होंने कहा कि लिंगायतों को अलग धर्म के रूप में मान्यता दिलाने की पहल के आधार पर इसी प्रकार की आवाज अन्य समुदायों द्वारा उठाई जा सकती है, इसलिए इस दिशा में सरकार का बढना समाज के लिए बेहद खतरनाक है। सिद्दरामैया को कर्नाटक के किसानों के हितों की रक्षा करने में असफल रहने और प़डोसी राज्य तमिलनाडु के किसानों को आश्रय देने का आरोप लगाते हुए कुमारस्वामी ने कहा कि कर्नाटक लगातार तीसरे वर्ष सूखे की मार झेल रहा है। बावजूद इसके राज्य के जलाशयों में पानी की गंभीर स्थिति को दरकिनार कर सिद्दरामैया सरकार लगातार तमिलनाडु के किसानों की जरुरतों के लिए पानी छो़ड रही है और कर्नाटक के किसानों को पानी नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज्य के किसानों के हितों के लिए किस प्रकार काम कर रही है यह इससे साबित होता है। ्यफ्द्य द्म ·र्ैंय्ट्टष्ठ्र ज्द्बर्‍द्यजनता दल (एस) के बागी विधायक जमीर अहमद के उस बयान कि बेंगलूरु के चामराजपेट विधानसभा क्षेत्र से आगामी विधानसभा चुनाव में अगर वे (जमीर) नहीं जीतेंगे तो अपना सिर काट लेंगे, पर टिप्पणी करते हुए कुमारस्वामी ने कहा कि मैं जमीर से कहूंगा कि वे ऐसा कुछ न करें। जीत और हार चुनावी राजनीति का हिस्सा है, इसलिए अपने हार जाने पर जमीर अपना सिर न काटें।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला
आभार प्रदर्शन भाषण में बिल गेट्स ने मान्यता के लिए आभार व्यक्त किया
केरल में इतनी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी कांग्रेस!
हिप्र: 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' से शिमला लौटे, 15 भाजपा विधायक निलंबित
पाक समर्थक नारे का आरोप: सिद्दरामैया ने कहा- सच पाए जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई
राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' पर गए!
प्रधानमंत्री ने नई परियोजनाओं का उद्घाटन किया, तमिलनाडु में नए इसरो लॉन्च कॉम्प्लेक्स की आधारशिला रखी
समुद्र: रहस्य की अद्भुत दुनिया