निर्भया के परिवार ने किया मुठभेड़ का स्वागत, थरूर ने ‘न्यायेतर हत्याओं’ के प्रति सचेत रहने को कहा

निर्भया के परिवार ने किया मुठभेड़ का स्वागत, थरूर ने ‘न्यायेतर हत्याओं’ के प्रति सचेत रहने को कहा

Shashi Tharoor

नई दिल्ली/भाषा। हैदराबाद में एक पशु-चिकित्सक के सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चार आरोपियों के शुक्रवार तड़के पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे जाने का निर्भया के माता-पिता ने स्वागत किया है, वहीं कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ऐसी कार्रवाईयों के प्रति सचेत रहने की हिदायत दी है।

निर्भया की मां ने अधिकारियों ने अपील की है कि मुठभेड़ में शामिल पुलिसवालों के खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए।गौरतलब है कि निर्भया के साथ दिसम्बर 2012 में सामूहिक बलात्कार किया गया था और कुछ दिन इलाज के बाद उसने दम तोड़ दिया था।

निर्भया के पिता ने भी मुठभेड़ का स्वागत करते हुए कहा कि परिवार का न्याय के लिए इंतजार जल्दी खत्म हो गया। उन्होंने कहा, हैदराबाद की चिकित्सक के परिवार को हमारी तरह न्याय के लिए सात वर्ष का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। पुलिस ने सही किया।

वहीं कांग्रेस नेता एवं लोकसभा सांसद शशि थरूर ने कहा कि न्यायेतर हत्याएं स्वीकार्य नहीं हैं। उन्होंने ट्वीट किया, सैद्धांतिक रूप से सहमत हूं। हमें और जानने की जरूरत है, उदाहरण के लिए अगर आरोपियों के पास हथियार थे तो पुलिस का गोली चलाना सही था। विस्तृत जानकारी मिलने तक इसकी निंदा करना सही नहीं है, लेकिन कानून के समाज में न्यायेतर हत्याएं स्वीकार्य नहीं है।

राष्ट्रीय महिला आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा ने कहा कि आरोपियों के मारे जाने से खुश हूं, लेकिन न्याय उचित कानूनी तरीके से किया जाना चाहिए।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

वक्त की जरूरत वक्त की जरूरत
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोकसभा चुनाव के लिए जो 'संकल्प-पत्र' जारी किया है, वह लोगों में आशाएं तो जगाएगा...
पाकिस्तान में मारा गया सरबजीत का हत्यारा, अज्ञात हमलावरों ने किया ढेर
राम नवमी पर भगवान श्रीराम को चढ़ाएंगे इतने लड्डुओं का भोग!
चुनाव आ रहा है तो मोदी रसोई गैस सिलेंडर के दाम कम करने की बातें कर रहे हैं: प्रियंका वाड्रा
दपरे ने स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रयास तेज किए
'हताश' कांग्रेस ऐसी घोषणाएं कर रही, जो उसके नेताओं को ही समझ नहीं आ रहीं: मोदी
भाजपा के घोषणा-पत्र में सिर्फ दो बार 'जॉब्स' का जिक्र, जबकि बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या: श्रीनेत