उप्र: बेहोश महिला को अंदर छोड़ स्वास्थ्य केंद्र को ताला लगाकर चले गए अधिकारी

उप्र: बेहोश महिला को अंदर छोड़ स्वास्थ्य केंद्र को ताला लगाकर चले गए अधिकारी

सांकेतिक चित्र

मुजफ्फरनगर/भाषा। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक स्वास्थ्य केंद्र के अधिकारी अपनी ड्यूटी खत्म होने पर केंद्र का ताला लगाकर घर चले गए, जबकि अंदर बेहोशी की हालत में एक महिला मरीज भर्ती थी।

मामला सामने आने पर चतुर्थ श्रेणी के एक कर्मचारी को निलंबित कर दिया गया है और चिकित्सा अधिकारी तथा मुख्य फार्मासिस्ट सहित चार अन्य अधिकारियों को बदल दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, जिले के फलावदा गांव स्थित स्वास्थ्य केंद्र में सोनिया नाम की 30 वर्षीय महिला बेहोशी की हालत में भर्ती थी। जब वह रोगी कक्ष में एक बिस्तर पर बेहोश थी तो एक डॉक्टर सहित अन्य कर्मचारी दोपहर बाद ड्यूटी खत्म होने पर केंद्र का ताला लगाकर घर चले गए।

कुछ घंटे बाद महिला को होश आया तो उसने खुद को केंद्र के भीतर बंद पाया। इसके बाद वह मदद के लिए चिल्लाने लगी। शोर सुनकर स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिला को बाहर निकाला।

घटना के बाद लोगों का आक्रोश बढ़ने पर स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. पीएस मिश्रा ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी के एक कर्मचारी को निलंबित कर दिया गया है तथा चिकित्सा अधिकारी डॉ. मोहित कुमार और मुख्य फार्मासिस्ट प्रवीण कुमार सहित चार अन्य अधिकारियों को बदल दिया गया है।

उन्होंने कहा कि उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीके ओझा के नेतृत्व में जांच के आदेश दिए गए हैं। जांच समिति से तीन दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा गया है। दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस बीच, स्थानीय लोगों ने लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया
Photo: DrGParameshwara FB page
तृणकां-कांग्रेस मिलकर घुसपैठियों के कब्जे को कानूनी बनाना चाहती हैं: मोदी
अहमदाबाद: आईएसआईएस के 4 'आतंकवादियों' की गिरफ्तारी के बारे में गुजरात डीजीपी ने दी यह जानकारी
5 महीने चलीं उन फांसियों का रईसी से भी था गहरा संबंध! इजराइली मीडिया ने ​फिर किया जिक्र
ईरानी राष्ट्रपति का निधन, अब कौन संभालेगा मुल्क की बागडोर, कितने दिनों में होगा चुनाव?
बेंगलूरु में रेव पार्टी: केंद्रीय अपराध शाखा ने छापेमारी की तो मिलीं ये चीजें!
ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी