नीतीश ने व्यक्तिगत हितों के लिए केन्द्र से डील कर ली : तेजस्वी

नीतीश ने व्यक्तिगत हितों के लिए केन्द्र से डील कर ली : तेजस्वी

पटना। बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने मंगलवार को आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग की जगह अपने लिए दिल्ली में विशेष आवास और विशेष सुरक्षा की ’’डील’’ कर प्रदेश की इस पुरानी मांग एवं राज्य की जनता की हितों के बजाय अपने व्यक्तिगत हितों को उपर रखा है। यादव ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग लंबे समय से की जा रही है और इस संबंध में बिहार विधान मंडल के दोनों सदनों से सर्वसम्मत प्रस्ताव भी पारित किया जा चुका है। प्रदेश की पुरानी मांग एवं हितों के एवज में मुख्यमंत्री कुमार ने अपने व्यक्तिगत स्वार्थ को ऊपर रखा और दिल्ली में अपने लिए विशेष आवास के साथ ही विशेष सुरक्षा की डील कर ली। प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि कुमार को व्यक्तिगत स्वार्थों को पूरा करने के लिए बिहार के अधिकार से समझौता नहीं करना चाहिए था। कुमार दिल्ली में मिले सरकारी बंगले को बिहार के मुख्यमंत्री को मिला बंगला बता रहे हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या बिहार के मुख्यमंत्री और नीतीश कुमार दो अलग-अलग व्यक्ति हैं? उन्होंने कहा कि पूर्व में दिल्ली में किसी भी मुख्यमंत्री को आज तक बिहार के मुख्यमंत्री की हैसियत से सरकारी बंगला नहीं मिला है।यादव ने कहा कि दिल्ली में सरकार बंगला और अपने लिए जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा पाने के लिए कुमार ने महागठबंधन से नाता तो़डा है। बिहार के दो पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और श्रीमती राब़डी देवी दो बंगले की बजाय मात्र एक ही बंगले में रहते हैं, लेकिन कुमार अकेला व्यक्ति होने के बावजूद पटना में दो और दिल्ली में एक सरकारी बंगले में रहते हैं। प्रतिपक्ष के नेता ने देश के सबसे ब़डे जनाधार वाले क्षेत्रीय दल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को मिली सुरक्षा को रौब गांठने का जरिया बताने वाले कुमार अब अपनी जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा को जरूरत बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी जब विपक्ष में थे तब उन्होंने मुख्यमंत्री कुमार को पत्र लिखकर पूछा था कि आपके परिवार में मात्र एक सदस्य है फिर भी पटना में दो सरकारी बंगले की क्या आवश्यकता है? ऐसे में कुमार को दिल्ली में तीसरा आलीशान बंगला मिला है, तो मोदी फिर से इस पर सवाल उठाने का साहस दिखाएंगे?यादव ने मुख्यमंत्री कुमार से सवाल किया कि एक व्यक्ति को कई बंगले और प्रतिपक्ष के नेता होने के नाते उन्हें एक भी नहीं। पहले से आवंटित उनका सरकारी बंगला किस कानून के तहत दूसरे को दे दिया गया यह उनकी समझ से परे है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने निर्दलीय बाहुबली विधायक अनंत सिंह को आदतन अपराधी बताया और कहा कि विधायक का जो भी विरोध करते हैं उनकी हत्या कर दी जाती है। उन्होंने रामजन्म यादव की दो दिन पूर्व ट्रेन में हुई हत्या में विधायक अनंत सिंह को आरोपी बनाए जाने पर कहा कि इस मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो से कराई जानी चाहिए।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

कांग्रेस को बड़ा झटका, इस सीट से उम्मीदवार का नामांकन पत्र हुआ खारिज कांग्रेस को बड़ा झटका, इस सीट से उम्मीदवार का नामांकन पत्र हुआ खारिज
Photo: @INCIndia X account
मोदी के नेतृत्व में अब वोटबैंक की नहीं, बल्कि रिपोर्ट कार्ड की राजनीति है: नड्डा
कभी विदेशों को जीतने के लिए आक्रमण नहीं किया, खुद में सुधार करके कमियों पर विजय पाई: मोदी
हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना