राहत की खबर: चौबीस घंटों में 2.69 लाख स्वस्थ, अब तक लगाए 15 करोड़ से ज्यादा टीके

राहत की खबर: चौबीस घंटों में 2.69 लाख स्वस्थ, अब तक लगाए 15 करोड़ से ज्यादा टीके

राहत की खबर: चौबीस घंटों में 2.69 लाख स्वस्थ, अब तक लगाए 15 करोड़ से ज्यादा टीके

सांकेतिक चित्र। स्रोत: PixaBay

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों के बीच राहत की खबर है। देश में अब तक 15 करोड़ से ज्यादा टीके लगाए जा चुके हैं। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को दी। इसके आंकड़ों के अनुसार, 22,07,065 सत्रों के माध्यम से टीकों की कुल 15,00,20,648 खुराकें दी जा चुकी हैं।

इससे कोरोना महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई और मजबूत हो रही है। बताया गया कि इनमें 93,67,520 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली खुराक और 61,47,918 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

इसके अलावा अग्रिम मोर्चे के 1,23,19,903 कर्मियों को पहली और 66,12,789 कर्मियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है ताकि महामारी का ज्यादा शक्ति के साथ मुकाबला किया जा सके।

मंत्रालय ने बताया कि 60 साल से अधिक उम्र के 5,14,99,834 लाभार्थियों को पहली और 98,92,380 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है। वहीं 45 से 60 साल के 5,10,24,886 लाभार्थियों को पहली और 31,55,418 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है।

पिछले 24 घंटे में ही 21 लाख से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं। इसी अवधि में 2,69,507 लोग कोरोना महामारी को शिकस्त देकर स्वस्थ हो गए।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

कांग्रेस को बड़ा झटका, इस सीट से उम्मीदवार का नामांकन पत्र हुआ खारिज कांग्रेस को बड़ा झटका, इस सीट से उम्मीदवार का नामांकन पत्र हुआ खारिज
Photo: @INCIndia X account
मोदी के नेतृत्व में अब वोटबैंक की नहीं, बल्कि रिपोर्ट कार्ड की राजनीति है: नड्डा
कभी विदेशों को जीतने के लिए आक्रमण नहीं किया, खुद में सुधार करके कमियों पर विजय पाई: मोदी
हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना