क्या लोकसभा में हुड़दंग मचाने के आरोपी मनोरंजन डी की कोई आपराधिक पृष्ठभूमि है?

तैंतीस वर्षीय मैसूरु निवासी शख्स ने लखनऊ के सागर शर्मा के साथ नारे लगाए और स्प्रे से पीला धुआं छोड़ा

क्या लोकसभा में हुड़दंग मचाने के आरोपी मनोरंजन डी की कोई आपराधिक पृष्ठभूमि है?

वह 'भगत सिंह फैन क्लब' से जुड़ा था

मैसूरु/दक्षिण भारत। दर्शकदीर्घा से लोकसभा में कूदने वाले दो लोगों में से एक, मनोरंजन डी, एक सोशल मीडिया पेज 'भगत सिंह फैन क्लब' से जुड़ा था। तैंतीस वर्षीय मैसूरु निवासी शख्स ने लखनऊ के सागर शर्मा के साथ नारे लगाए और स्प्रे से पीला धुआं छोड़ा, जिससे सदन में घबराहट फैल गई थी।

संसद सुरक्षा उल्लंघन की घटना के तुरंत बाद, मैसूरु पुलिस हरकत में आई और इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि से जुड़े इस व्यक्ति का पता लगाने के लिए जांच शुरू की।

पुलिस सूत्रों की मानें तो जांच से पता चला कि वह 'भगत सिंह फैन क्लब' से जुड़ा था। यह सामने आया है कि उसकी किसी भी आपराधिक पृष्ठभूमि का पता नहीं चला है। वह बहुत शांत व्यक्ति रहा है, लेकिन उसने जो किताबें पढ़ीं, उससे वह 'क्रांतिकारी टाइप' प्रतीत होता है।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, मनोरंजन डी महान स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह का प्रशंसक प्रतीत होत है, जिन्हें अंग्रेजों ने फांसी दे दी थी।

बता दें कि भगत​ सिंह ने भी प्रतीकात्मक रूप से दिल्ली में सेंट्रल असेंबली में ऐसा 'बम' फेंका था, जिससे धमाका तो हुआ, लेकिन किसी की जान को नुकसान नहीं हुआ था।

मनोरंजन के पिता देवराजे गौड़ा ने कहा कि उनके बेटे का कृत्य निंदनीय है और अगर वह दोषी पाया गया तो वे उसे छोड़ देंगे। उन्होंने कहा था, अगर मेरा बेटा दोषी साबित हुआ तो उसे फांसी पर लटका दो।

देवराजे गौड़ा ने कहा कि मनोरंजन बहुत सारी किताबें पढ़ता था, जिनमें कई किताबें स्वामी विवेकानंद की थीं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री 'मेक-इन इंडिया' के सपने को साकार करने में एचएएल की बहुत बड़ी भूमिका: रक्षा राज्य मंत्री
उन्होंने एचएएल के शीर्ष प्रबंधन को संबोधित किया
हर साल 4000 से ज्यादा विद्यार्थियों को ऑटोमोटिव कौशल सिखा रही टाटा मोटर्स की स्किल लैब्स पहल
भोजशाला: सर्वेक्षण के खिलाफ याचिका सूचीबद्ध करने पर विचार के लिए उच्चतम न्यायालय सहमत
इमरान ख़ान की पार्टी पर प्रतिबंध लगाएगी पाकिस्तान सरकार!
भोजशाला मामला: एएसआई ने सर्वेक्षण रिपोर्ट मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय को सौंपी
उच्चतम न्यायालय ने सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाली शिवकुमार की याचिका खारिज की
ईश्वर ही था, जिसने अकल्पनीय घटना को रोका, अमेरिका को एकजुट करें: ट्रंप