कंपनी ने किया वाटरप्रूफ फोन का दावा, जांच के लिए जज ने पानी में डाला, जानिए फिर क्या हुआ

कंपनी ने किया वाटरप्रूफ फोन का दावा, जांच के लिए जज ने पानी में डाला, जानिए फिर क्या हुआ

consumer forum

झज्जर। एक कंपनी को अपने मोबाइल फोन के बारे में झूठा दावा करना महंगा पड़ गया। उस पर अदालत ने जुर्माना लगाया है। मामला हरियाणा में झज्जर की उपभोक्ता अदालत का है। यहां एक शख्स ने मामला दर्ज कराया था कि उसने मोबाइल कंपनी से फोन खरीदा तो बताया गया कि यह वाटरप्रूफ है, लेकिन असलियत इससे अलग है। उसने कहा कि कंपनी झूठा प्रचार कर रही है।

वहीं कंपनी की ओर से कहा गया कि मोबाइल फोन वाटरप्रूफ है। जज ने दोनों की बात सुनने के बाद अदालत में ही पानी से भरा बर्तन मंगवाया और मोबाइल फोन को उसमें डाल दिया। कुछ देर बाद मोबाइल को बाहर निकाला तो पाया कि वह खराब हो चुका है। इस तरह कंपनी का दावा झूठा साबित हो गया।

जानकारी के अनुसार, साहिल जसवाल ने मई 2017 में झज्जर से एक मोबाइल फोन खरीदा था। इसके लिए उसने 56 हजार 900 रुपए का भुगतान किया। कंपनी की ओर से कहा गया था कि यह वाटरप्रूफ है लेकिन हकीकत इससे कहीं अलग थी। उसने कंपनी से भी संपर्क किया लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

आखिरकार उसने उपभोक्ता फोरम का रुख किया और यहां अपनी बात कही। कंपनी के प्रति​निधि ने यहां भी दावा किया कि उसका मोबाइल फोन वाटरप्रूफ है। जज ने दावे की हकीकत जानने के लिए अदालत कक्ष में ही पानी का बर्तन मंगवाया और फोन को उसमें डाल दिया। पानी में डूबा मोबाइल खराब हो चुका था।

इसके बाद अदालत ने कंपनी को आदेश दिया कि उपभोक्ता को यह मोबाइल ठीक करके दे या नया मोबाइल दे या उसकी पूरी कीमत लौटाए। अदालत ने इसके अलावा कंपनी पर साढ़े सात हजार रुपए का जुर्माना लगाया। यह राशि उपभोक्ता को दी जाएगी।

ये भी पढ़िए:
– देर रात गरबा में थे मग्न, अचानक आया मगरमच्छ तो मच गई भगदड़
– पाक का फैसला: छह साल की जैनब को मिला इनसाफ, दुष्कर्म और हत्या के दोषी को नौ माह में दे दी फांसी
– ठांय-ठांय बोलकर बदमाशों को डराने वाले पुलिसकर्मी की हो रही तारीफ, मिलेगा पुरस्कार
– नदी में सिक्के ढूंढ़ रहे लड़कों को मिला संदूक, खोलकर देखा तो उड़ गए होश

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

'हिंदी के साथ हमारे स्वाभिमान और राष्ट्रीय एकता का जुड़ाव है' 'हिंदी के साथ हमारे स्वाभिमान और राष्ट्रीय एकता का जुड़ाव है'
राजभाषा के प्रयोग-प्रसार एवं कार्यान्वयन से संबंधित उपलब्धियों को प्रदर्शित करने वाली प्रदर्शनी भी लगाई गई
यूक्रेन को मिलेगी राहत? शांतिवार्ता के लिए पुतिन ने रखीं ये शर्तें
बीएचईएल को थर्मल पावर प्लांट के लिए दो बैक-टू-बैक ऑर्डर मिले
जी-7 शिखर सम्मेलन: मैक्रों समेत इन नेताओं से मिले मोदी, कई मुद्दों पर हुई चर्चा
येडियुरप्पा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट पर बोले कुमारस्वामी- पिछले 4 महीनों में पुलिस विभाग क्या कर रहा था?
ऐसा मैसेज आए तो रहें सावधान, यहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर और उसके परिवार ने गंवा दिए 5.14 करोड़ रु.
मोदी के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय मंच पर शानदार प्रदर्शन कर रहा भारत, कांग्रेस को हो रही ईर्ष्या: भाजपा