ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का ओडिशा के चांदीपुर से सफल परीक्षण

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का ओडिशा के चांदीपुर से सफल परीक्षण

सांकेतिक चित्र

बालासोर/भाषा। ओडिशा के चांदीपुर से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का मंगलवार सुबह सफल परीक्षण किया गया। रक्षा सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि जमीन पर मार करने में सक्षम इस मिसाइल को मोबाइल ऑटोनॉमस लांचर से सुबह करीब साढ़े आठ बजे चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) में लांच कॉम्प्लेक्स-3 से प्रक्षेपित किया गया।

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक सूत्र ने कहा कि सतह से सतह तक मार करने में सक्षम मिसाइल का परीक्षण सफल रहा। परीक्षण सभी मापदंडों पर खरा रहा। ब्रह्मोस मिसाइल मध्यम दूरी तक मार करने वाली रामजेट सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है जिसे पनडुब्बी, युद्धपोतों, लड़ाकू विमान अथवा जमीन से लांच किया जा सकता है।

रक्षा सूत्रों ने बताया कि 450 किमी तक मार करने में सक्षम इस तरह की पहली आधुनिक मिसाइल का सफल परीक्षण 11 मार्च 2017 को हुआ था। उन्होंने बताया कि कम दूरी की, सतह पर मार करने वाली ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण 30 सितंबर 2019 को चांदीपुर में आईटीआर से किया गया था।

ब्रह्मोस का निर्माण डीआरडी और रूस के एनपीओएम ने संयुक्त रूप से किया है। भारतीय सेना, नौसेना और वायुसेना तीनों सेनाएं इस मिसाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि ब्रह्मोस को दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल माना जाता है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

राजग सरकार की योजनाओं में कोई भेदभाव नहीं होता, हर किसी को लाभ मिलता है: मोदी राजग सरकार की योजनाओं में कोई भेदभाव नहीं होता, हर किसी को लाभ मिलता है: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि 4 जून को नतीजा क्या होने जा रहा है, यह साफ दिखाई दे रहा है
इंडि गठबंधन की प्रेसवार्ता में राहुल-अखिलेश ने बोला भाजपा पर हमला
ईडी ने हेमंत सोरेन के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अब इन लोगों को गिरफ्तार किया
बेंगलूरु: हेब्बाल फ्लाईओवर के काम की वजह से डायवर्ट किया गया यातायात
नेताजी ने कितनी बार भरी विमानों/हेलीकॉप्टरों से उड़ान? चुनाव आयोग ने मांगा हिसाब
व्यावहारिक हों वादे
छत्तीसगढ़: सुरक्षाकर्मियों के साथ मुठभेड़ में 18 नक्सली ढेर