बच्ची के दुष्कर्मी और हत्यारोपी को भीड़ ने जिंदा जलाया

बच्ची के दुष्कर्मी और हत्यारोपी को भीड़ ने जिंदा जलाया

ईटानगर। प्रदेश में एक बच्ची के साथ दुष्कर्म के आरोप में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए दो युवकों को आक्रोशित भीड़ द्वारा पीट-पीट कर मौत के घाट उतारने का मामला सामने आया है। इस घटना से यह साफ पता चलता है कि लोगों में छोटी बच्चियों के साथ दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को अंजाम देने वाले लोगों के लिए किस प्रकार का आक्रोश है। कुछ दिनों पहले पुलिस को एक पांच वर्ष की बच्ची की बिना कपड़ों के सिर कटी लाश मिली थी। पुलिस ने जांच के दौरान पाया था कि बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी।
पुलिस के अनुसार 12 फरवरी को बच्ची का अपहरण किया गया था और पांच दिनों बाद उसका शव चाय बगान में मिला था। इस बच्ची की हत्या को लेकर स्थानीय लोगों में काफी नाराजगी थी। इसके कारण क्षेत्र में तनाव बढता जा रहा था। आखिरकार पुलिस ने जांच को आगे बढाते हुए दो युवकों को इस आरोप में गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान दोनों युवकों ने इस वारदात को अंजाम देने की बात स्वीकार कर ली।
गिरफ्तार करने के बाद दोनों आरोपियों को पुलिस ने थाने में बने लॉकअप में रखा था। इसी क्रम में अचानक स्थानीय लोगों को इस बात की जानकारी मिल गई कि बच्ची के साथ दुष्कर्म और उसकी हत्या के आरोपियों को थाना में रखा गया है। फिर क्या था लोगों ने थाने पर धावा बोल दिया और दोनों युवकों को लॉकअप से खींच कर बाहर सड़क पर ले आए। पहले तो लोगों ने इन युवकों को सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और उसके बाद इन्हें जिंदा जला दिया। इस पूरी घटना में पुलिस भी मूक दर्शक बनने के अलावा कुछ और नहीं कर सकी।
मुख्यमंत्री प्रेम खांडू ने इस घटना के जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। खंाडू ने बच्ची के साथ दुष्कर्म और हत्या की घटना को बर्बर करार दिया है। मुख्यमंत्री ने भीड़ द्वारा आरोपियों की हत्या को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। फिलहाल दोनों आरोपियों की हत्या के मामले में संबंधित थाने के तीन पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है और पुलिस अधीक्षक का स्थानांतरित कर दिया गया है। इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News