फरेबी के जाल में उलझीं 18 युवतियां, पुलिस ने दबोचा

फरेबी के जाल में उलझीं 18 युवतियां, पुलिस ने दबोचा

इलाहाबाद। फरेब, रेप और ब्लैकमेलिंग से महिलाओं और युवतियों का दिल ही नहीं टूटता, उनकी जिंदगी पर बेहद बुरा असर होता है। इन कहानियों का सूत्रपात अब अक्सर सोशल मीडिया से ही होता है। पुलिस की साइबर सेल और करेली पुलिस ने इसी प्रकार के मामले में एक फरेबी युवक को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि उसने अपना शिकार ढूंढने के लिए फेसबुक और ट्विटर सहित अन्य सोशल मीडिया साइट्स को अपना जरिया बनाया और लगभग 18 युवतियों को प्रेम जाल में फांसकर उनके साथ बलात्कार किया। वह यहीं पर नहीं रुका, बल्कि उसके चंगुल में फंसी लड़कियों को ब्लैकमेल कर वह उनसे पैसे भी ऐंठता रहा। पुलिस तक उसकी शिकायत तब पहुंची, जब उसने एक सरकारी कर्मचारी की बीवी को अपने चंगुल में फंसाकर ब्लैकमेल किया। पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ रेप, ब्लैकमेलिंग साइबर क्राइम और फोर्जरी की धाराओं में एफआईआर दर्ज किया है।

कौन है आरोपी?

इलाहाबाद के करेली थाना क्षेत्र के रहने वाले अंसार अहमद रेलवे से रिटायर्ड हैं्। उनका बेटा शहनवाज अहमद बीए की पढ़ाई करने के बाद घर पर ही रहता है। सात-आठ महीने पहले वह गुजरात गया था, जहां से उसने एक सिमकार्ड खरीदकर उसी नंबर से फेसबुक पर अर्पित शर्मा, ईशांत शर्मा और शहनवाज के नाम से फेक अकाउंट बनाए्। इसके बाद वह मोबाइल ऐप की मदद से लड़कियों को अपने जाल में फंसाने लगा। उसने जॉर्जटाउन में रहने वाले एक सरकारी कर्मचारी की पत्नी से फेसबुक पर दोस्ती की और उसे बताया कि वह विदेश में बिजनेस करता है, वहां भारतीय महिलाओं की जरूरत है।

फेसबुक पर धीरे-धीरे चैटिंग करके उसने महिला को अपने जाल में फंसा लिया। बिजनेस से संबंधित बात करने के बहाने उसने एक दिन अर्पित शर्मा बनकर सरकारी कर्मी की पत्नी को मिलने पार्क में बुलाया।

डोरे सिर्फ हिंदू लड़कियों पर ही डालता था

पुलिस जांच में ये भी तथ्य सामने आया कि शहनवाज केवल हिंदू लड़कियों को ही फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजता था। उसके जाल में अब तक इलाहाबाद की तीन, दिल्ली, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और हिमाचल प्रदेश की कई लड़कियां-महिलाएं उसके चंगुल में फंसी थीं्।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News